Main Sliderअन्य राज्य

अब इस राज्य में लोग नहीं खा सकेंगे गुटखा और पान मसाला, सरकार ने किया बैन

उत्तराखंड की सरकार ने गुटखा, पान मसाला और उसका निर्माण करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। राज्य के फूड सेफ्टी कमिश्नर नितेश कुमार झा ने शुक्रवार को एक आदेश जारी किया जिसमें पान मसाला के साथ मिलाने वाले तंबाकू पर रोक लगा दी गई है। यह आदेश एक साल तक जारी रहेगा। आदेश जारी होने के बाद भी राज्य में कई दुकानों पर तंबाकू बेचने का काम जारी है, ऐसे लोगों को नितेश कुमार झा ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर कोई तंबाकू बेचता पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बता दें, जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि, प्रदेश में पान मसाला के साथ छोटे-छोटे पैकेटों में तंबाकू बेचा जा रहा है जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए हानिकार है। इसी को देखते हुए खाद्य सुरक्षा एवं मानक विनियम 2011 के तहत राज्य में तंबाकू के पैकेट और निकोटिन युक्त गटखा के निर्माण, उसे रखने और बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सरकार के इस फैसले पर लोगों की मिली जुली प्रतिक्रिया आई है। बड़ी संख्या में लोगों ने इस फैसले को सही बताया तो कुछ ने चुनौतियों का जिक्र भी कर दिया।

लोगों ने बताया की सरकार द्वारा ऐसे कई फैसले प्रदेश में पहले भी लिए गए हैं लेकिन खुद शासन-प्रशासन उसपर अमल करना भूल जाती है। गुटखा पर सिर्फ प्रतिबंध लगाने से कुछ नहीं होगा उसके लिए पुलिस को भी ईमानदारी से इसमें सहयोग करना होगा। तंबाक-गुटखा से होने वाली बीमारियों से हम सभी परिचित हैं लेकिन कई दुकानें ऐसी हैं जो चोरी छिपे आज भी यह उत्पाद बेच रही हैं।

उत्तरखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आदेश को शुरुआत बताया है। उन्होंने कहा कि, हमने एक साल तक इस मुद्दे पर अमल कर के जनता की प्रतिक्रिया लेने का फैसला लिया है। राज्य में युवा और बाहरी शिक्षा प्राप्त करने के लिए यहां आते हैं और उन्हें नशे की लत लग जाती है। तंबाकू उत्पादों पर प्रतिबंध से वह नशे की गर्त में जाने से बचेंगे और शिक्षा पर ध्यान दे सकेंगे।

loading...
=>

Related Articles