खेल

धोनी को लेकर दिनेश कार्तिक ने दिया बड़ा बयान, कहा-टी20 वर्ल्ड कप में उनकी जगह ले सकता हूं

टी-20 वर्ल्ड कप में करीब एक साल का वक्त बचा है. अगला वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया में होगा और भारतीय प्रशंसकों को इस बात का बेसब्री से इंतजार है कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी टी-20 वर्ल्ड कप का हिस्सा होंगे या नहीं. धोनी तीन महीने से क्रिकेट से दूर हैं, लेकिन उन्होंने अभी तक संन्यास का ऐलान नहीं किया है. हालांकि खुद धोनी ने इस बारे में कोई बयान नहीं दिया है, लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं कि वे टी-20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का हिस्सा होंगे. मगर अब टीम इंडिया के एक और विकेटकीपर ने धोनी की जगह पर दावा ठोक दिया है.

दरअसल, भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने कहा है कि वे टी-20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के लिए वही भूमिका निभाने के लिए बिल्कुल तैयार हैं जो धोनी इतने सालों से निभाते आ रहे हैं. इंग्लैंड में आयोजित हुए आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के बाद से ही दिनेश कार्तिक टीम इंडिया से बाहर हैं. उन्होंने उम्मीद जताई है कि वे भारत की टी-20 टीम में फिनिशर की भूमिका निभा सकते हैं. मौजूदा समय में चल रही विजय हजारे ट्रॉफी में दिनेश कार्तिक ने तमिलनाडु के लिए फिनिशर की भूमिका बहुत अच्छे तरीके से निभाई है.

दिनेश कार्तिक ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से कहा है कि टी-20 वर्ल्ड कप एक साल दूर है, लेकिन मैं घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं. मुझे उम्मीद है कि मैं टी-20 वर्ल्ड कप खेल सकूंगा. 34 साल के कार्तिक ने कहा, ‘मुझे लगता है कि मैच फिनिशर वो अहम हिस्सा है जिस पर टीम इंडिया की नजरें भी हैं. उसे एक ऐसा खिलाड़ी चाहिए जो ऐसे हालात में टीम को मैच जिता सके. मैंने टी-20 क्रिकेट में भारतीय टीम के लिए ऐसा किया भी है. मगर वर्ल्ड कप के बाद मुझे टीम इंडिया की ओर से खेलने का मौका नहीं मिला. बावजूद इसके मुझे लगता है कि मैं टीम के लिए वो भूमिका निभाने के लिए बिल्कुल उपयुक्त खिलाड़ी हूं, जो महेंद्र सिंह धोनी लंबे समय से निभाते आ रहे हैं. मैंने कोलकाता नाइटराइडर्स और तमिलनाडु टीम के लिए ऐसा किया है. इसलिए अगर टीम में इस स्‍थान के लिए जगह बनती है तो मैं उसकी ओर बेसब्री से देख रहा हूं. बेशक मैं टी-20 वर्ल्ड कप खेलना चाहता हूं.’

दिनेश कार्तिक ने पिछले साल कोलंबो में निदाहास ट्रॉफी के फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ 8 गेंद पर 29 रन बनाकर भारतीय टीम को जीत दिलाई थी. इतना ही नहीं, पिछले दो साल में सफलतापूर्वक लक्ष्य का पीछा करने के दौरान दिनेश कार्तिक सबसे ज्यादा बार नॉटआउट रहने वाले खिलाड़ी हैं. भारत ने इस दौरान लक्ष्य का पीछा करते हुए जिन 7 मुकाबलों में जीत हासिल की है, उनमें कार्तिक हर बार अंत तक टिके रहे हैं और उन्होंने 142.42 के औसत से 141 रन बनाए हैं.

loading...
=>

Related Articles