कारोबार

अगर आप भी बैंकों के हालात देख कर पैसा रखने से हैं डरते, तो इन सुरक्षित जगहों का करें इस्तेमाल

PMC बैंक में जमाकर्ताओं के पैसे को लेकर मचे बवाल के बाद खाताधारक के मन में ये सवाल उठने लगा है कि आखिर वह अपना पैसा कहां निवेश करे, किस बैंक में खाता खुलवाए, किस बैंक में एफडी करे ताकि उसका पैसा सुरक्षित रह सके। जमाकर्ताओं के मन में यह सवाल भी है कि आखिर जो पैसा वो बैंक में जमा करेंगे कहीं ऐसा न हो कि उसका हश्र भी PMC बैंक वाला हो जाए। दरअसल, इंसान अपनी मेहनत की कमाई का एक-एक पाई बैंकों में जमा करता है ताकि जब उसे इसकी जरूरत पड़े वह निकाल सके। लेकिन PMC वाला मामला सामने आने के बाद RBI ने इस बैंक पर कई सारे नए नियम लागू कर दिए हैं। साथ ही बैंक से निकासी की भी एक सीमा तय कर दी है। तो फिर ऐसे समय में जब आप भी यही सोच रहे हैं कि आपका पैसा अगर बैंकों में सुरक्षित नहीं है तो फिर कहां है, इसका जवाब हम आपको इस खबर में दे रहे हैं।

सरकारी बॉन्ड

भारत सरकार 7 साल के कार्यकाल के साथ 7.75 फीसद सेविंग (कर योग्य) बॉन्ड जारी करती है। बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज दर के कम होने की दशा में यह निवेश विकल्प लंबी अवधि के लिए अच्छा है। इसमें ब्याज का भुगतान या तो छमाही या मैच्योरिटी आधार पर किया जाता है।

पोस्ट ऑफिस स्कीम

आरबीआई ने जनवरी 2019 के बाद से नीतिगत रेपो दर में 135 आधार अंकों की कटौती की है और निकट भविष्य में इसमें और अधिक कटौती की उम्मीद है। ऐसे में आप डाकघर की छोटी बचत योजनाओं में निवेश का विकल्प देख सकते हैं। इंडिया पोस्ट ने हाल ही में डाकघर बचत खाता धारकों के लिए मोबाइल बैंकिंग सुविधा शुरू की है, जिसके माध्यम से वे पीपीएफ, टाइम डिपॉजिट फंड आदि में निवेश कर सकते हैं।

सरकार की ओर से चलाई जाने वाली पोस्ट ऑफिस की योजनाएं निवेशकों के सुरक्षा के लिहाज से बहुत बेहतर है। इसमें सुकन्या समृद्धि योजना भी बेहतर विकल्प है, इसके अलावा पीपीएफ भी अच्छा ऑप्शन है।

गवर्नमेंट सिक्योरिटीज

सरकार की ओर से सरकारी प्रतिभूतियां जारी की जाती हैं, इसलिए गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में निवेश पूरी तरह से सुरक्षित है। हालांकि, इसमें निवेशक को इसे मैच्योरिटी तक रखना होगा। गवर्नमेंट सिक्योरिटीज एनएसई प्लेटफॉर्म के जरिये खरीदा या बेचा जा सकता है। एक बार मैच्योर होने तक निवेशक के लिए यह 100 फीसद सुरक्षित होता है।

पीएमवीवीवाई योजना (PMVVY)

पीएमवीवीवाई में 10 वर्षों के लिए 8 फीसद दर से गारंटीकृत रिटर्न मिल रहा है। PMVVY LIC के पास उपलब्ध है। PMVVY की अंतिम तिथि 31 मार्च, 2020 है।

loading...
=>

Related Articles