उत्तर प्रदेशहरदोई

30 अक्तूबर से चालू होगा झाड़ी शाह का मेला तैयारियां शुरू

मेले का मुख्य मार्ग जर्जर, पालिका अधिकारी सुस्त

सण्डीला,हरदोई।शहर का मशहूर रब्बानी शाह कादरी उर्फ झाड़ी शाह बाबा का मेला आने वाली 30 अक्टूबर 2019 से 7 नवंबर 2019 तक सण्डीला की सर जमी पर होने वाला है। इस बार झाड़ी शाह बाबा रहमतुल्लाह अलेह का 28 वां सालाना उर्स मुबारक की जानकारी देते हुए दरगाह के गद्दी नशीन सूफी मोहम्मद इदरीश शाह मंसुरिया ने बताया कि 30 अक्टूबर को सुबह 8 बजे कुरान ख़्वानी होगी 9 बजे परचम कुशाई शाम 7 बजे मेले का उद्घाटन होगा और रात में ईशा की नमाज़ के बाद मिलाद का प्रोग्राम होगा और मदरसे में पढ़ने वाले बच्चों की दस्तारबंदी की जाएगी। वही 31अक्टूबर 2019 को रात 9 बजे से ऑल इंडिया मुशायरा का आयोजन किया जाएगा। इसमें मशहूर शायर और सायरा अपने मकबूल कलाम से सुनने वाली जनता को मंत्रमुग्ध कर देंगे वही 1 नवंबर 2019 दोपहर 12 बजे से एकता विराट कुश्ती दंगल शाम को सरकारी चादर और रात बजे रात 9 बजे महफिले समा यानी कव्वाली का आयोजन किया जाएगा 2 नवंबर दोपहर 2 से एकता विराट कुश्ती दंगल और फिर रात 9 बजे महफिले समा का आयोजन किया जाएगा। वहीं 3 नवंबर 2019 सुबह 10 बजे कुल शरीफ और सुबह 11बजे से रात 11 बजे तक आम लंगर का आयोजन किया जाएगा और 9 से स्टेज कव्वाली का प्रोग्राम होगा वही 4 नवंबर 2019 सुबह 9 बजे मजार शरीफ का गुसल शरीफ संदल रात 9 बजे दरगाह में कव्वाली जिसमें मशहूर कव्वाल फईम गुलाम वारिश गुलाम तशरीफ ला रहे हैं वही 5 नवंबर 2019 को रात 9 बजे कवि सम्मेलन व चोकरा का का प्रोग्राम होगा और 6 नवंबर 2019 को बाद नमाजे ईशा चरागा सरकारे गौसे पाक और रात 10:00 बजे जवाबी कव्वाली का मुकाबला होगा जिसमें हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल जुनैद सुल्तानी व सानिया नाज के बीच में शानदार जवाबी मुकाबला देखने को मिलेगा और 7 नवंबर 2019 को रात 9:00 बजे के बाद जवाबी आतिशबाजी का प्रोग्राम होगा उसके बाद प्रोग्राम का इख़्तिमाम होगा
यह जानकारी देते हुए गद्दीनशीन सूफी मोहम्मद इदरीश शाह मंसुरिया ने बताया यह मेला पिछले 27 सालों से निरंतर रूप से चल रहा है इस बार 28 वां सालाना उर्स व पशु मेला होने जा रहा है उन्होंने जानकारी देते हुए बताया की मेले में लाखों की भीड़ में अक़ीदत मन्द रोज आते हैं बाबा की मजार पर चादर चढ़ाकर दुआएं मांगते हैं हमारे यहां मेले में दूर-दूर से लोग आकर दुकाने लगाते हैं और दूर-दूर से लोग झूले वाले आकर झूला व सर्कस का प्रोग्राम दिखाते हैं।30 नवम्बर से शुरू होने वाले मेले में मैन सड़क जर्जर स्थिति की हालत में है जबकि उसी सड़क पर मेले में रोजाना हज़ारो आदमी का आवागमन होता है
रिक्शे,गाड़ी,बच्चे,बूढ़े सभी उसी रास्ते से होकर गुजरते है लेकिन पालिका के द्वारा अभी तक इस पर कोई कार्यवाही नही गयी जबकि इससे पूर्व मदरसे की देखभाल करने वाले हाफिज जलील ने कई बार इस मामले को नगरपालिका को अवगत भी कराया है और कल उन्होंने लिखित प्रार्थना पत्र भी दिया है।जब उस बाबत की जानकारी अधिशासी अधिकारी से दूरभाष यंत्र द्वारा संवाददाता ने की तो साहब का फोन पहुँच के बाहर मिला।मेले में दूर दूर से बहुत से सर्कस और झूले आते है जिसमे आसमानी झूला और मौत का कुआं तो देखते बनता है। जादू और हवाईजहाज़ के झूले और रेल मैजिक डांस के झूले तो बच्चों को अति प्रिय होते है।
मेले में जहाँ एक तरफ झूले बच्चों के आकर्षण का एक केंद्र है वही घरों की गृहस्थी के कप प्लेट औऱ बहुत से घरेलू सामान की सैकड़ो दुकाने भी लगती है।मेले में सैकड़ो दुकाने खाने पीने की भी आती हैं जिसमे कई होटल औऱ मिठाई और बिरयानी लोगो को अपनी और आकर्षण का मुख्य केंद्र बन जाती है।

loading...
=>

Related Articles