Main Sliderउत्तर प्रदेशलखनऊ

ड्राईवरों को दिया तरक्की का ‘दीया’

यूपी रोडवेज के एमडी डॉ. राजशेखर ने आलमबाग टर्मिनल पर आयोजित दीपदान समारोह में किया सम्मानित

कहा, 2500 चालक-परिचालकों समेत उनके परिजन भी रोडवेज का ही परिवार

लखनऊ, यूपी रोडवेज के 72 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब विभाग के प्रशासनिक मुखिया ने किसी बस स्टेशन के मंच से उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले ड्राईवरों व कंडक्टरों का उत्साहवर्धन किया हो बल्कि उनके परिवार की मौजूदगी में उन सभी के हाथों में तरक्की का ‘दीया’ थमाया हो। मंगलवार को राजधानी के आलमबाग बस टर्मिनल परिसर में दीपदान नामक कुछ ऐसे ही कार्यक्रम का आयोजन लखनऊ रीजन की टीम द्वारा किया गया था। इस दौरान विभिन्न रीजनों से परिवार संग पहुंचे कुल 280 ड्राईवरों को एक-एक करके एमडी डॉ. राजशेखर ने दीये का उपहार सौंपा। इसमें लखनऊ रीजन के 140 कर्मी शामिल थे। दीये का उपहार उन्हीं को दिया जा रहा है जिन्होंने अपने-अपने डिपो में बेहतर परफॉर्मेंस या फिर बेहतर डीजल औसत का अांकड़ा छूआ है।

इस मौके पर एमडी ने कहा कि हमारा तकरीबन 12 हजार से अधिक बसों का बेड़ा है, जिसके संचालन में सबसे अहम भूमिका ड्राईवरों और कंडक्टरों की होती है। उन्होंने कहा कि यूपी रोडवेज में ऐसे चालकों व परिचालकों की लगभग 2500 संख्या है, जिनसें हर घर में पांच लोग होंगे। ऐसे में दीपावली पर यह दीये का सम्मान रोडवेज के ढाई लाख परिवारीजनों के लिये है। उन्होंने यह भी कहा कि बीते चार साल से परिवहन निगम लाभ की स्थिति में है, ऐसे में हम सभी का दायित्व और बढ़ जाता है। खास बात यह रही कि उम्मीद संस्था ने इन दीयों की व्यवस्था की थी और इन्हें उन असहाय बच्चों ने बनाया था जो मलिन बस्तियों में रहते हैं। इस मौके पर सीजीएम टी जयदीप वर्मा, सीजीएम आॅपरेशन आशीष चटर्जी, आरएम पल्लव बोस और आलमबाग व चारबाग सहित विभिन्न डिपो के एआरएम अधिकारियों में डीके गर्ग, मतीन अहमद, अमरनाथ सहाय, काशी प्रसाद, श्वेता सिंह, ताज मोहम्मद व पीआरओ अनवर अंजार सहित अन्य रोडवेज कर्मी मौजूद रहें।

अच्छा तो लगा, पर आगे भी होता रहे

ड्राईवर सुनील तिवारी को मंच पर जब पुकारा गया तो वो पत्नी संग वहां पहुंचे और एमडी ने उन्हें दीये का उपहार थमाया। कुछ कहने पर सुनील ने इतना ही बोला कि…एमडी साहब अच्छा कर रहे हैं। वहीं दूसरे चालक ने अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसा आगे भी होता रहे। बता दें कि विगत तीन साल से यूपी रोडवेज का स्थापना दिवस समारोह किसी न किसी कारणवश टल जा रहा है। ऐसे में रोडवेज कर्मियों के बीच इसे लेकर काफी नाराजगी का माहौल चल रहा है, मगर इसी कड़ी में आयोजित हुए इस दीये के सम्मान कार्यक्रम में उन्हें कहीं न कहीं थोड़ी खुशी मिली।

loading...
=>

Related Articles