कानपुर

छठ पूजा का महापर्व आज से शुरू

कानपुर। पुत्रों की दीर्घायु की कामना का महापर्व आज से शुरू होगा। पहले दिन नहाय खाय और फिर दूसरे दिन खरना होगा। खरना के साथ ही व्रत का शुभारंभ हो जाएगा। पूजन की तैयारियां लोगों ने शुरू कर दी है। वेदियां बनाने का कार्य शुरू हो गया है। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि दो नवंबर को व्रती महिलाएं अस्त होते सूर्य को अर्ध्य देंगी और पुत्र के दीर्घायु की कामना करेंगी,जबकि अगले दिन सुबह उदय होते सूर्य को अर्ध्य दिया जाएगा।
छठ पूजा का मुख्य पूजन दो नवंबर की शाम और तीन नवंबर की सुबह होगा जब व्रती महिलाएं भगवान सूर्य को अर्ध्य देकर छठी मइया से पुत्रों के दीर्घायु और अखंड सौभाग्य की कामना करेंगी। घाटों पर आस्था का सैलाब उमड़ेगा। गुरुवार को पहले दिन महिलाएं घरों में पूजन अर्चन करेंगी। लौकी की सब्जी और भात (पका हुआ चावल) खाएंगी। शुक्रवार को खरना होगा। इस दिन व्रती महिलाएं खीर और रोटी खाकर पूजन करेंगी। इसी रात्रि से व्रत शुरू हो जाएगा। शाम को ही चौरा में दउरा और सूप में फल,फूल, नारियल और अन्य पूजन सामग्रियां रख दी जाएंगी। अखंड ज्योति जलाकर मां का पूजन अर्चन किया जाएगा और फिर शनिवार की शाम को घाट पर पहुंचकर डूबते सूर्य को अर्ध्य देकर सुख समृद्धि व दीर्घायु की कामना करेंगी। वे एक दूसरे की मांग में सिंदूर भरेंगी। रविवार को जब सूर्य उदय होंगे तब उन्हें अर्ध्य दिया जाएगा।
इन जगहों पर होगा पूजन अर्चन
अर्मापुर,पनकी,सीटीआई नहर,दबौली,बर्रा नहर के साथ ही शास्त्री नगर, नमक फैक्ट्री चौराहा पर बनाए गए वैकल्पिक तालाब,मैस्कर घाट,गंगा बैराज,गोला घाट में भी पूजन अर्चन होगा।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com