खेल

दिल्ली में नेट प्रैक्टिस के दौरान अंडर 19 के गेंदबाज ने रोहित और धवन को किया परेशान

भारत और बांग्लादेश दे बीच टी-20 सीरीज का आगाज रविवार (कल) से होने जा रहै है। पहला टी-20 मैच दिल्ली के अरुण जेटली मैदान में खेला जाएगा। मैच से पहले भारत की टीम दिल्ली पहुंच चुकी है और स्टेडियम में जमकर नेट प्रैक्टिस भी कर रही है। टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी रोहित शर्मा और शिखर धवन ने भी जमकर पसीना बहाया, लेकिन इन सबके बीच दिल्ली के 19 साल के क्रिकेटर केशव डबास सुर्खियों में आ गए हैं। केशव रोहित का विकेट और शिखर को अपनी गेंदों से परेशान करने की वजह से चर्चा में बने हुए हैं।

दाएं हाथ के मीडियम पेसर केशव डबास भारतीय खिलाड़ियों को नेट प्रैक्टिस के दौरान बॉलिंग कर रहे थे। उन्होंने जल्दी ही रोहित शर्मा का विकेट निकाल लिया और शिखर धवन को जमकर छकाया। केशव अपनी इस सफलता पर कैसे रिएक्ट करें, उन्हें खुद समझ नहीं आ रहा था। इस दौरान कई दिल को छू लेने वाले पल भी देखने को मिले। एक बार बॉल रोहित के बल्ले से लगी और वहीं नीचे गिर गई। रोहित ने बॉल को उठाया और केशव की तरफ फेंक दिया। वैसे सीनियर खिलाड़ियों की तरफ से ऐसा नजारा ही देखने को मिलता है।

केशव के सेलिब्रेशन में रोहित के इस जेस्चर में काफी मदद की। इसके बाद केशव ने शिखर धवन को भी अपनी गेंदों से काफी परेशान किया। अपनी इस कामयाबी पर केशव ने कहा, ”ये बहुत ही शानदार फीलिंग है। अब क्या बोलूं समझ नहीं आ रहा है। केशव डबास की शानदार बॉलिंग से टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री भी काफी प्रभावित नजर आए। उन्होंने केशव की गेंदबाजी देखकर कहा ‘शानदार बॉलिंग’। इसके बाद भारत के तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने केशव से पूछा, ‘किस क्लब के लिए खेलते हो?’ जब केशव से रवि शास्त्री की तारीफ के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ”नहीं, मैंने रवि शास्त्री सर की तारीफ वाली बात नहीं सुनी, लेकिन शार्दुल ठाकुर मुझसे क्लब वगैरह के बारे में पूछ रहे थे।

यह पहला मौका है, जब केशव को भारतीय क्रिकेटर्स को गेंदबाजी करने का मौका मिला है। केशव सुरिंदर खन्ना क्रिकेट एकेडमी के लिए खेलते हैं। पिछले साल एक मैच में उन्होंने अंडर-19 के लिए भी खेला था। जून में केशव के पिता का देहांत ब्रेन स्ट्रोक की वजह से हो गया था। इसकी वजह से उनके परिवार में कुछ आर्थिक परेशानियां आईं। लेकिन बड़ी बहन और भाई की जॉब की वजह से उन्हें ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पडा़। केशव का कहना है कि अपनी गेंदबाजी को और निखार कर ही अपने परिवार के लिए कुछ कर सकते हैं। केशव कहते हैं, ”इसलिए तो क्रिकेट खेल रहा हूं… अभी बहुत लंबा सफर है, लेकिन उम्मीद है कि मेरे सपने सच होंगे।”

loading...
Loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com