18+

महिलाओं में पहली बार सेक्स करने के बाद शरीर में होते हैं ये बदलाव

क्या आप जानते हैं कि पहली बार सेक्स के बाद लड़कियों के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। हालांकि इन बदलावों से लड़कियों को कोई खास परेशानी नहीं होती लेकिन इन्हें जानने की इच्छा हर लड़की की होती है।

तनाव में कमी

सेक्स के कारण होने वाले हार्मोनल बदलाव महिलाओं के मूड को अच्छा कर देते हैं। एक अध्ययन के अनुसार जो लोग दो सप्ताह तक हर दिन सेक्स करते हैं उनमें तनाव कम देखा जाता है। उनका दिमाग सकारात्मक रूप से काम करने लगता है। साथ ही ये महिलाओं में आत्मविश्वास को भी बढ़ाता है।

आईक्यू में इजाफा

इग्लैंड और मैरीलैंड की एक शोध के मुताबिक सेक्स करने के बाद महिलाओं का आईक्यू पहले से बेहतर हो जाता है। जब वे पुरुषों के हार्मोन के संपर्क में आती हैं तो उनका दिमाग पहले से ज्यादा क्रियाशील हो जाता है। दिमाग के कार्य करने की क्षमता में इजाफा होता है और नए न्यूरॉन्स व ब्रेन सेल्स का उत्पादन होता है। हालांकि कई शोध इस बात का खंडन करते हैं।

चाल में बदलाव

बेल्जिन की एक शोध के मुताबिक वैजिनाइल ऑर्गेज्‍म और इंटरकोर्स के बाद महिलाओं की चाल में प्राकृतिक रूप से परिवर्तन आता है। जिससे उनके चलने के तरीके पर भी प्रभाव पड़ता है। सेक्स करने से महिलाओं की बॉडी की शेप भी बदल जाती है।

वजन बढ़ना

आमतौर पर ये देखा जाता है कि पहली बार सेक्स करने के बाद महिलाओं का वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। ऐसा हार्मोनल बदलावों की वजह से होता है। जिसके कारण उनका वजन बढ़ने लगता है। सेक्स करने की वजह से आपकी रक्त वाहिकाएं फैल जाती हैं और इससे ब्रस्ट और कूल्हों के टिशूज का आकार बढ़ जाता है और वे पहले की तुलना में बड़े हो जाते है। हालांकि कुछ शोध में ये भी पता चला है कि सेक्स के दौरान आप काफी कैलोरी बर्न करते हैं। इसलिए वजन के बढ़ने के अन्य कारण भी हो सकते हैं।

पीरियड्स में बदलाव

कई बार ऐसा होता है कि पहली बार सेक्स करने के बाद पीरियड्स में बदलाव हो जता है। इसकी वजह भी हारमोन्स में बदलाव के होने से ही है, लेकिन अगर पीरियड्स के डेट में ज्यादा देरी हो तो ये प्रेग्नेंसी का इशारा भी हो सकता है।

शरीर के आकार में बदलाव

बेल्जिन में एक रिसर्च हुआ जिससे ये बात साबित हुई कि पहली बार सेक्स के बाद महिलाओं के शरीर का आकार थोड़ा बदल जाता है।

पहली बार सेक्स के बाद होती है ब्लीडिंग

पहली बार संबंध बनाने के बाद महिलाओं को चार या पांच दिन तक ब्लीडिंग की समस्या होती है। बिना पीरियड्स के ही ब्लीडिंग होती है। इससे महिलाएं घबरा जाती हैं, ये सामान्य बात है इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

पीरियड्स डेट में बदलाव

सेक्स के बाद महिलाओं के मासिक धर्म की तारीख में भी बदलाव आ सकते हैं। इसके मुख्य कारण हार्मोंस ही होते हैं। हालांकि इस बारे में महिलाओं को थोड़ा सा सावधानी बरतने की जरूरत होती है। तारीख में ज्यादा देरी गर्भधारण की संभावना को भी बढ़ सकती है।

loading...
=>

Related Articles