कारोबार

थोक महंगाई 4 महीने की ऊंचाई पर, आम आदमी पर इसका असर जानिए क्या हैं बड़ी वजह

नई दिल्ली। त्यौहारी सीजन से ठीक पहले महंगाई के मोर्चे पर खराब खबर आ रही है। अगस्त महीने में थोक महंगाई सूचकांक जुलाई महीने के 1.88 फीसद से बढ़कर 3.24 फीसद के स्तर पर पहुंच गया, यह बीते चार महीने का सबसे ऊंचा स्तर है। अगस्त 2016 में थोक महंगाई सूचकांक 1.09 फीसद के स्तर पर था। थोक महंगाई में आई इस तेजी की वजह खाद्य पद्धार्थों और ईधन में आई तेजी है। विशेषज्ञों का मानना है की आने वाले महीनों में महंगाई में और इजाफा हो सकता है, ऐसे में ब्याज दरों में कटौती के लिए लंबा इंतजार करना होगा।


थोक महंगाई सूचकांक में आई तेजी की सबसे बड़ी वजह सब्जियों के दामों में हुई बढ़ोतरी रही है। जुलाई में सब्जियों की महंगाई दर्शाने वाला इंडेक्स 21.95 फीसद के स्तर पर था जो अगस्त में 44.91 फीसद के स्तर पर पहुंच गया। इसके पीछे बड़ी वजह प्याज की कीमतों में आई तेजी रही। प्याज की कीमत अगस्त महीने में 88.46 फीसद की दर से बढ़ी जो जुलाई में 9.50 फीसद के स्तर पर थी। इसके अलावा फल, सब्जियों, मीट, मछली की कीमतों में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

ईधन जनित महंगाई भी अगस्त में दोगुनी हो गई। जुलाई में फ्यूल एंड पावर सेग्मेंट में महंगाई दर 9.99 फीसद रही जो जुलाई में 4.37 फीसद पर थी। पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ रहीं कीमतें और पावर टैरिफ में की गई बढ़ोतरी ही फ्यूल एंड पावर सेग्मेंट में आई तेजी का असली कारण हैं।

loading...
Loading...

Related Articles