शिक्षा—रोजगार

जीवन में इन बातों का ध्यान रख कर बढ़ेंगे आगे तो कभी नहीं मिलेगी निराशा

दुःख और परेशानी सभी के जीवन में आती और जाती रहती हैं. हालाँकि कई बार इंसान के दुःख का कारण वो खुद होता हैं. दुःख असल में आपके दिमाग में उत्पन्न होने वाली एक फीलिंग मात्र हैं. ऐसे में यदि आपके अंदर कुछ खराब आदतें या कमियां होगी तो आप जीवन में हमेशा दुखी ही रहोगे. सुख आपको नसीब नहीं होगा. ऐसे में आज हम आपको उन टाइप्स के लोगो के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी ख़राब आदतों या सोच के चलते जीवन में हमेशा दुखी ही रहते हैं.

जलन करने वाले

कई लोगो की लाइफ की सबसे बड़ी समस्यां ये होती हैं कि वो दूसरों को देख हमेशा जलते रहते हैं. फलाने के पास बहुत पैसा हैं, तो वो बहुत सुंदर हैं या करियर में वो टॉप पर हैं इत्यादि चीजें जलन का कारण बनती हैं. लोग दूसरों की तरक्की और ख़ुशी को बर्दास्त नहीं कर पाते हैं. अंदर ही अंदर कुड़कते रहते हैं. भगवान ने उन्हें जो पहले से दिया हैं उसमे संतुष्ट नहीं हैं. उन्हें दूसरों की तरह या उनसे बेहतर बनना हैं. बस यही वजह हैं कि इनकी लाइफ में सुख कम और दुःख ज्यादा होते हैं.

जल्दी हार मानने वाले

समस्यां एक ऐसी चीज हैं जो हम सभी के जीवन में कभी ना कभी आती जरूर हैं. ऐसे में यदि आप उस प्रॉब्लम से हार मान हाथ पर हाथ धरे बैठे ही रहोगे तो लाइफ में दुखी ज्यादा रहोगे. आपको चाहिए कि आप उस समस्यां की जड़ तक जाए और उसे जल्द से जल्द हल करे. किसी प्रॉब्लम से हार ना माने और ना ही उदासी के दलदल में फंसे.

ज्यादा उम्मीदें रखने वाले

कुछ लोगो की समस्यां होती हैं कि वो अपनी क्षमता से ज्यादा उम्मीदें लगाए रहते हैं. उन्हें जीवन में जो भी मिल रहा हैं उस से संतुष्टि नहीं होती हैं. इन लोगो को लाइफ में हमेशा बहुत ज्यादा और बड़ा चाहिए होता हैं. ऐसे में ये खुद अपनी उम्मीदों पर खड़ा नहीं उतर पाते हैं और लाइफ में उदास ही रहते हैं.

गुस्से पर काबू ना रखने वाले

जिन लोगो को बहुत जल्दी गुस्सा आ जाता हैं और जो हमेशा लड़ाई झगड़े के मूड में ही रहते हैं वे भी जीवन में सुखी नहीं रह सकते हैं. उनके गुस्से वाले व्यवहार की वजह से कोई भी उन्हें दिल से प्यार नहीं करता हैं. ऐसे लोग जीवन में बहुत अकेलापन महसूस करते हैं. यह चीज इन्हें अंदर ही अंदर उदास कर देती हैं.

दूसरों के विचारों का आदर ना करने वाले

अक्सर लोगो की यही सोच रहती हैं कि पूरी दुनियां उनके बताए रास्ते पर ही चले. वे लाइफ को लेकर जो नियम बनाते हैं दुसरे लोग भी उसका पालन करे. जो लोग हमेशा अपनी इच्छाएं दूसरों पर थोपते हैं वे जीवन में कभी सुखी नहीं रह सकते हैं. यदि आप दुःख अलविदा कहना चाहते हैं तो ‘जियो और जीने दो’ कहावत को अपना ले. दूसरों को अपने हिसाब से जीने दे और उससे खुद अफेक्ट ना हो.

loading...
Loading...

Related Articles