Wednesday, September 30, 2020 at 11:48 PM

डेंगू का डंक बर्दाश्त नही कर सका आर्मी जवान , डिप्रेशन में पत्नी ,शाली को गोली मारने के बाद किया ख़ुदकुशी

 आख़िरी निशानी के रूप में रह गया सात वर्षीय विराट और छ : वर्षीय वैभव
>> तीनों शव को ज़ब्त कर प्रशासन ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा , हथियार बरामद , मौक़े पर डीएसपी कर रहे कैंप
पटना ( अ सं ) अपने सिने से देश की सीमा को  सुरक्षित रखने वाला आर्मी जवान को डेंगू के डंक ने इस क़दर पीड़ित कर दिया की वह डिप्रेशन में चला गया और आख़िर में अपने सनकी तेवर में पहले अपनी पत्नी , फिर शाली को गोली मारकर हत्या कर दिया और आख़िर में स्वयं को भी गोली मार ख़ुदकुशी कर जीवन समाप्त कर लिया । चलती कार में वारदात की इस घटना में  आखिरी निशानी के रूप में सात वर्षीय बेटा विराट और छ: वर्षीय वैभव रह गया । दोनों के जुबान पर बस मम्मी और पापा -पा निकल रहा था और रोते-रोते बुरा हाल था।
रविवार की सुबह साढ़े दस बजे के करीब भोजपुर से पटना जाने के दौरान सोन कैनाल नहर रोड़ पर सैदाबाद गांव के समीप एक कार में सवार आर्मी के जवान विष्णु शर्मा ने गोली मार कर पत्नी व शाली एवम खुद को गोली मार जाने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है.
मृतक आर्मी जवान विष्णु कुमार पिछले एक माह डेढ़ माह से डेंगू से ग्रसित थे लम्बी बीमारी के कर अवसाद से गुजर रहे थे परिजनों ने उसे इलाज के लिए पटना ले जाने के दौरान अपने ही हथियार से शाली डिम्पल शर्मा व पत्नी दामनी शर्मा को गोली मार कर हत्या कर कार में ही हत्या कर दी गोली की आवाज से चालक ने कार रोकी तो सनकी आर्मी ने खुद को गोली मार कर खुदकुशी कर ली।
कार में जा रहे उनके दो पुत्र विराट 7 वर्षीय व वैभव 6 वर्षीय ने बताया कि पापा बीमार थे उन्हें डॉक्टर के पास ले जा रहे थे कि रास्ते मे पापा ने पहले मौसी व बाद में मम्मी को गोली मार दी है।
कार चालक मिथलेश ठाकुर ने बताया कि मृतक गड़हनी थाना क्षेत्र के लालगंज गांव निवासी मानसिक रूप से विक्षिप्त थे इलाज के पतना जाने के दौरान रास्ते मे पत्नी ,साली व खुद को गोली मार दी।
घटना की सूचना पर पालीगंज के एसडीपीओ मनोज कुमार पांडेय , रानीतालाब थानाध्यक्ष इंद्रजीत कुमार शव व कार को अपने कब्जे में लेकर थाने आकर मामले की छानबीन में जुटी हुई है। मामले की वैज्ञानिक विधि अनुसंधान की टीम पटना से आ गई है मामले की जांच चल रही है।
loading...
Loading...