टेक मित्र

अब आपके के स्मार्ट फोन के लिये जरुरत बन चुका है ‘USB कन्डोम’

नई दिल्ली। दुनियाभर में ‘USB कॉन्डम’ कहे जाने वाले डिवाइसेज तेजी से पॉप्युलर हो रहे हैं और उनकी डिमांड तेजी से बढ़ी है। अचानक इन डिवाइसेज की डिमांड बढ़ने की वजह यह नहीं है कि इन डिवाइसेज का किसी की पर्सनल लाइफ से लेना-देना है, बल्कि आजकल पब्लिक यूएसबी पोर्ट्स और चार्जर्स की जरूरत के चलते ये काम के साबित हो रहे हैं। ‘USB कॉन्डम’ या ‘USB डेटा ब्लॉकर’ एक सिंपल डिवाइस है, जो किसी भी स्मार्टफोन, टैबलेट या फिर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को डेटा ट्रांसफर करने से रोकता है और केवल चार्जिंग के लिए इलेक्ट्रिसिटी बैटरी तक जा पाती है।

बेहद सिंपल दिखने वाले और आकार में छोटे ये डिवाइसेज 500 रुपये के आसपास की कीमत में ऑनलाइन खरीदे जा सकते हैं। इनमें सबसे ज्यादा पॉप्युलर ‘USB कॉन्डम’ PortaPow USB डेटा ब्लॉकर है। इसे आसानी से किसी भी यूएसबी डेटा केबल से कनेक्ट किया जा सकता है और इसके बाद पब्लिक यूएसबी चार्जिंग स्टेशन से डिवाइस को कनेक्ट पर किसी भी तरह का डेटा ट्रांसफर केबल की मदद से नहीं किया जा सकता और डिवाइस चार्ज हो जाता है। आसान शब्दों में समझें तो यह डिवाइस यूएसबी केबल को सिंपल चार्जिंग केबल में बदल देता है, जिससे डेटा ट्रांसफर नहीं किया जा सकता।

ऐसे होता है चार्जिंग स्कैम
हाल ही में बढ़े USB चार्जिंग स्कैम ‘Juice Jacking’ के मामले तेजी से बढ़ने के बाद ये ‘USB कॉन्डम’ अब जरूरी अक्सेसरी बन चुके हैं, जिससे डेटा को सेफ रखा जा सके। अटैकर्स पब्लिक चार्जिंग स्टेशंस की मदद से ढेरों यूजर्स को निशाना बना चुके हैं और आसानी से ढेरों डिवाइसेज में मैलवेयर इंस्टॉल कर देते हैं। यूजर्स जब भी पब्लिक चार्जिंग स्टेशन में यूएसबी केबल की मदद से डिवाइस चार्जिंग के लिए लगाते हैं, उनके स्मार्टफोन में रैंसमवेयर इंस्टॉल हो जाता है और यूजर्स का पर्सनल डेटा, पासवर्ड्स चोरी किए जा सकते हैं।

इसलिए जरूरी है डिवाइस
स्कैमर्स कई बार अपने यूएसबी केबल भी चार्जिंग स्टेशन पर लगाकर छोड़ देते हैं और दूसरे यूजर सीधे केबल अपने डिवाइस में प्लग कर लेते हैं। वहीं, कुछ अटैक्स में यूजर्स का डिवाइस पूरी तरह लॉक हो जाता है और स्कैमर खुद उसे अनलॉक करने और मदद करनी की पेशकश करते हैं और बदले में यूजर से ऐसा करने के पैसे मांगते हैं। इन्हीं वजहों से यूएसबी डेटा ब्लॉकर या आसान शब्दों में ‘USB कॉन्डम’ आपके पास होना जरूरी है क्योंकि ऐसे किसी भी केबल या चार्जिंग स्पेस का इस्तेमाल करना भारी पड़ सकता है। यही वजह है कि ये छोटे लेकिन बेहद काम के डिवाइस ट्रैवलर्स की जरूरत बन चुके हैं।

loading...
Loading...

Related Articles