Main Sliderअंतरराष्ट्रीय

भारत के इस कदम से पाकिस्तान में मचा हाहाकार, पाक मंत्री ने खोले अपने देश के नेताओं की पोल

नई दिल्ली। पाकिस्तान सरकार ने माना है कि देश में आसमान छूती महंगाई की कुछ खास वजहों में से एक वजह भारत के साथ व्यापार पर लगी रोक भी है। पाकिस्तान की राजनीति पर वहां की सेना की पकड़ का खुलासा खुद वहां के एक मंत्री ने यह कहकर किया है कि देश में कोई ऐसा राजनेता नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पला-बढ़ा न हो।

पाकिस्तान सरकार ने माना है कि देश में आसमान छूती महंगाई की कुछ खास वजहों में से एक वजह भारत के साथ व्यापार पर लगी रोक भी है। इसके अलावा सरकार ने मौसम के बिगड़े तेवर और प्रांतीय सरकारों द्वारा बिचौलियों पर प्रभावी रोक नहीं लगा पाने को भी देश में मंहगाई के बेतहाशा बढ़ने के कारणों में गिनाया है। संघीय कैबिनेट की बैठक के बाद एक प्रेस कांफ्रेंस में मंगलवार को प्रधानमंत्री के आर्थिक मामलों के सलाहकार डॉ. अब्दुल हफीज शेख और आर्थिक मामलों के मंत्री हम्माद अजहर ने यह बात कही। उन्होंने दावा किया कि देश में मंहगाई की मार अगले दो महीनों में कम हो जाएगी।

पाकिस्तान की राजनीति पर वहां की सेना की पकड़ का खुलासा खुद वहां के एक मंत्री ने यह कहकर किया है कि देश में कोई ऐसा राजनेता नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पला-बढ़ा न हो। यह बात पाकिस्तान के रेलवे मंत्री शेख रशीद अहमद ने कही है। अपने बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले रशीद ने एक टीवी कार्यक्रम में यह बात कही। उन्होंने कहा, “मुल्क में कोई एक भी सियासतदां ऐसा नहीं है जो फौज की नर्सरियों में पल कर जवान न हुआ हो। पाकिस्तान की सियासत में जितने लोग आए हैं, वे सभी फौज के आशीर्वाद से आए हैं।”

टैक्स रिटर्न नहीं भरने वालों का कटेगा बिजली और गैस कनेक्शन
पाकिस्तान में फेडरल बोर्ड आफ रेवन्यू (एफबीआर) ने सैद्धांतिक रूप से यह फैसला किया है कि टैक्स नहीं जमा करने वाले औद्योगिक व व्यावसायिक उपभोक्ताओं के बिजली व गैस कनेक्शन को काटने के लिए कर कानूनों में बदलाव किया जाएगा। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, औद्योगिक व व्यावसायिक उपभोक्ताओं द्वारा टैक्स रिटर्न भरने के प्रति भारी उपेक्षा के कारण कर कानूनों में बदलाव पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। इस मामले में बिजली वितरण कंपनियों द्वारा औद्योगिक व व्यावसायिक उपभोक्ताओं को टैक्स रिटर्न भरने के लिए राजी किए जाने के प्रयास को भारी नाकामी का सामना करना पड़ा है। इस वजह से एफबीआर ने बिजली व गैस कनेक्शन को काटने जैसे कड़े कदम उठाने पर विचार किया है।

मेरी बात नहीं सुनी जा रही, मेरे साथ ज्यादती हो रही है : मुशर्रफ
एक समय पाकिस्तान पर अपनी तानाशाही पकड़ रखने वाले सेवानिवृत्त जनरल परवेज मुशर्रफ का कहना है कि अपनी सारी जिंदगी उन्होंने पाकिस्तान की सेवा की और आज उन्हें ही संगीन राजद्रोह के मामले का सामना करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि उनके साथ बहुत ज्यादती हो रही है। राजद्रोह मामले में बार-बार तलब किए जाने के बावजूद अदालत में पेश नहीं होने वाले पूर्व पाकिस्तानी राष्ट्रपति मुशर्रफ ने कहा है कि वह अपना बयान दर्ज कराने के लिए तैयार हैं। मुशर्रफ अस्वस्थ होने के कारण दुबई में इलाज करा रहे हैं। पांच दिसंबर को उनके मामले की सुनवाई विशेष अदालत में होनी है। इससे पहले उनकी तबियत फिर अचानक काफी बिगड़ गई और उन्हें दुबई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में अपने बेड से मुशर्रफ ने एक वीडियो संदेश जारी किया है। इसमें उन्होंने कहा है, “मेरी तबियत शुरू से बहुत खराब है। मैं अस्पताल आता-जाता रहता हूं। इस बार यहां उठाकर लाया गया हूं।”

loading...
Loading...

Related Articles