उत्तर प्रदेश

पीड़िता को 22 मिनट में पहुंचाया लखनऊ एयरपोर्ट

लखनऊ। सीएम के आदेश पर उन्नाव रेप पीड़िता को सिविल अस्पताल से एयरपोर्ट पहुंचाने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने गुरुवार शाम को ग्रीन कॉरिडोर बनाया। करीब 24 किलोमीटर की दूरी को तय करने में एम्बुलेंस को महज 22 मिनट लगे। यहां से एयर एम्बुलेंस से दिल्ली भेजा गया।
एएसपी ट्रैफिक पूर्णेन्दु सिंह ने बताया कि शाम करीब 5:56 मिनट पर रेप पीड़िता को एम्बुलेंस के जरिए रवाना किया गया है। रेप पीड़िता को ले जाने में काफी सावधानी बरती गई है। एकाएक ब्रेक लगने से मरीज को दिक्कत न हो। लिहाजा, रफ्तार को संतुलित रखा गया। यह सुविधा बंगलुरु, कोच्ची, चेन्नै, मुम्बई, दिल्ली समेत कई अन्य शहरों में ऐसे कॉरिडोर की सुविधा दी जा चुकी है।

यहां से गुजरी एम्बुलेंस
सिविल अस्पताल से गोल्फ क्लब चौराहा, बंदरियाबाग चौराहा, कटाईपुल, अर्जुनगंज, अहिमामऊ, रमाबाई ढाल, शहीद पथ से अमौसी एयरपोर्ट। वहीं पीड़िता को सिविल अस्पताल से अमौसी एयरपोर्ट पहुंचाने में 100 ट्रैफिक पुलिस कर्मी लगे। इनमें एएसपी ट्रैफिक-01, सीओ ट्रैफिक-01, टीआई-03, टीएसआई-12, हेड कांस्टेबल-20, ट्रैफिक सिपाही- 33 और होमगार्ड- 30 थे।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com