अंतरराष्ट्रीय

भारत में चीनी कंपनियां करने वाली हैं 800 करोड़ का निवेश

नई दिल्ली. अमेरिका और चीन के बीच चल रहे हैं ट्रेड वॉर से भारत को फायदा होते ही दिख रहा है. दरअसल ट्रेड वॉर के कारण व्यापारियों को अब चीन में बिजनस का वह माहौल नहीं मिल पा रहा है, जो ट्रेड वॉर से पहले मिल रहा था. यही वजह है कि वहां की कंपनियां अब अपने लिए दूसरे बाजार की तलाश कर रही हैं और धीरे-धीरे चीन से कारोबार समेटना शुरू कर दिया है. चीन की पांच कंपनियों ने उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने की इच्छा जताई है.

ग्रेटर नोएडा में 800 करोड़ रुपये निवेश होगा
यह पांच कंपनियां ग्रेटर नोएडा में 800 करोड़ रुपये निवेश करने के बारे सोच रही हैं. अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल निवेश को आकर्षित करने के लिए चीन के तीन शहरों की यात्रा पर गया था. उसी के बाद यह निवेश आया है.

ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण (GNIDA) के बयान के मुताबिक, प्रमुख फोन निर्माता शाओमी को स्पेयर्स की आपूर्ति करने वाली चीन की होलीटेक इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारियों ने ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिकारियों से मुलाकात की और अपनी पांच साझेदारी कंपनियों का आशय पत्र सौंपा है.

loading...
Loading...

Related Articles