रायबरेली

उन्नाव कांड:पीड़िता का शव पहुँचा घर,कल होगा अंतिम संस्कार

 

रायबरेली 07दिसम्बर  (तरुणमित्र)।उन्नाव रेप पीड़िता का शव दिल्ली सफदरगंज हॉस्पिटल से शनिवार की देर शाम उसके घर  हिंदूनगर (भाटनखेड़ा) पहुंच गया।शव के साथ पीड़िता के बड़े भाई भी थे।गांव में सुरक्षकर्मियों की भारी मौजूदगी के बीच करीब 9 बजे पीड़िता का शव पहुंचा।शव के घर मे पहुचते ही लोगो की भारी भीड़ उमड़ पड़ी।मीडिया और लोगो को रोकने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।परिजनों ने बताया कि सुबह गांव के ही पास एक खेत मे पीड़िता के शव को दफनाया जायेगा।उन्नाव की रेप पीड़िता की मौत शुक्रवार की देर रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हो गया था।सुबह करीब 10 बजे पोस्टमार्टम के बाद उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया।पीड़िता के शव को सड़क मार्ग के द्वारा उसके घर लाया गया है जहां राविवार को अंतिम संस्कार किया जायेगा।।।गौरतलब है कि बीते गुरुवार की अलसुबह पीड़िता को जलाकर मारने की कोशिश की गई।गंभीर रूप इसे करीब 90 प्रतिशत जली अवस्था मे उसे लख़नऊ ले जाया गया,जहां से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था।शुक्रवार की देर रात करीब11 बजकर चालीस मिनट पर पीड़िता की मौत हो गई थी। उन्नाव में पीड़िता के ही गांव के रहनेवाले शिवम और उसके चचेरे भाई शुभम ने रायबरेली के लालगंज में पिछले वर्ष 12 दिसम्बर को दुष्कर्म किया था और उसका वीडियो बनाकर लगातर ब्लैकमेल कर रहे थे।पीड़िता इनकी दहशत के कारण रायबरेली के लालगंज में अपने बुआ के यहां रह रही थी।मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही उजागर हुई थी और कोर्ट के आदेश के बाद 5 मार्च 2019 को मुकदमा दर्ज हो पाया था।घटना के दिन पीड़िता रायबरेली में पेशी के लिए आ रही थी।
*पिता और भाई ने की दोषियों को फांसी की मांग*
उन्नाव रेप कांड की पीड़िता की मौत से बेहद आहत पिता और भाई ने दोषियों को तुरंत मौत की मांग की है।पिता ने शनिवार को गांव में मीडिया से बात करते हुए दरिंदो को हैदराबाद पुलिस की तरह एनकाउंटर करने की मांग की।पीड़िता की मौत के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह से हैदराबाद कांड के दरिंदो को दौड़ाकर मार गया उसी तरह उनकी बेटी के हत्यारों को सजा मिलनी चाहिये।पीड़िता के भाई ने कहा कि न्याय पर उन्हें पूरा भरोसा है लेकिन दोषियों को मौत की सजा मिलनी चाहिये चाहे फांसी मिले या एनकाउंटर हो।उन्होंने कहा कि उनकी सिर्फ एक ही मांग है कि बहन की मौत का तुरंत इंसाफ मिले। जिलाधिकारी व  पुलिस अधीक्षक की देखरेख में शव को लाया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि शव का अंतिम संस्कार जिलाधिकाारी  कोष से किया जाएगा।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com