Main Sliderउत्तर प्रदेश

यूपी के मुजफ्फरनगर में उन्नाव जैसी ही सनसनीखेज वारदात, मुकदमा वापस न लेने पर तेजाब फेंका

किशोरी से किया दुष्कर्म, गर्भवती होने पर खुलासा

मुजफ्फरनगर। थाना शाहपुर क्षेत्र में यूपी के उन्नाव जैसी ही सनसनीखेज वारदात सामने आई है। यहां एक गांव में सामूहिक दुष्कर्म के मामले में समझौता नहीं करने पर आरोपियों ने घर में घुसकर पीड़िता पर तेजाब फेंक दिया। पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज की, लेकिन आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। वारदात तीन दिन पुरानी है, शनिवार को पीड़िता ने एसएसपी दफ्तर पहुंचकर आरोपियों की गिरफ्तारी की गुहार मांग की।

पीड़िता ने एसपी देहात नेपाल सिंह को बताया कि तीन माह पूर्व मुजफ्फरनगर से लौटते समय गांव के ही तीन लोगों ने कार में लिफ्ट देकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था।

मामले में कोर्ट के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उस केस में आरोपी समझौते का दबाव बनाया और धमकियां दीं। आरोप है कि गत चार दिसंबर को तड़के आरोपी शाहनवाज पुत्र उमरदीन, आरिफ पुत्र हबीब, शरीफ पुत्र मीदू व आबिद पुत्र अकबर पीड़िता के घर में घुस गए और पीड़िता पर तेजाब फेंक दिया।

महिला का चेहरा, बायां हाथ, पेट-कमर व बायां पैर झुलस गया। पुलिस ने महिला को जिला अस्पताल भेजा, जहां से उसे मेरठ रेफर किया गया। पांच दिसंबर को शाहपुर थाना पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली, लेकिन गिरफ्तारी नहीं की।

जिले के ही तितावी थानाक्षेत्र में करीब पांच माह पूर्व क्षेत्र के एक गांव निवासी किशोरी के साथ खेत पर गई किशोरी के साथ गांव के ही एक युवक चीनू ने डरा-धमकाकर दुष्कर्म किया। इसके बाद से ही चीनू किशोरी से जबरन संबंध बनाता आ रहा था। आरोपी के डर से किशोरी चुपचाप इस शोषण को सहती आ रही थी। जबरन किए जा रहे दुष्कर्म से किशोरी करीब चार माह की गर्भवती हो गई।

मां ने पूछताछ की तो किशोरी ने सब कुछ बता दिया। किशोरी के पिता ने आरोपी के खिलाफ नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की गुहार लगाई, जिस पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करते हुए चीनू को गिरफ्तार कर लिया है।

इंस्पेक्टर गुरुबचन सिंह का कहना है कि आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म व पॉक्सोएक्ट में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। किशोरी का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया जा रहा है।

loading...
Loading...

Related Articles