उत्तर प्रदेशलखनऊ

गन्ना किसानों ने किया विधानसभा का घेराव, कई हिरासत में

योगी सरकार के खिलाफ पराली जलाकर की नारेबाजी की, आंदोलन की दी चेतावनी

लखनऊ।  राजधानी लखनऊ में बुधवार तड़के सैकड़ों की संख्या में गन्ना किसान विधानसभा  का घेराव  करने पहुंच गए। करीब 4 बजे किसान विधानसभा के घेराव के लिए पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने पहले ही बैरिकेडिंग कर रखी थी, जिसके बाद पुलिस ने उन पर पानी की बौछार कर उन्हें काबू में किया और फिर बस में भरकर दूर ले जाया गया। इस दौरान कई किसानों को पुलिस ने हिरासत में भी लिया। वहीं किसानों ने योगी सरकार के खिलाफ पराली जलाकर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने सरकार को किसान विरोधी बताते हुए अपनी मांगें पूरी करने तक आंदोलन की चेतावनी दी।
गौरतलब है कि गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाने, बकाया भुगतान और पराली जालाने पर हो रही कार्रवाई समेत कई मुद्दों पर भारतीय किसान यूनियन ने पूरे यूपी में आंदोलन का ऐलान किया है। किसान लगातार गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन सरकार ने 2019-20 सत्र का जो समर्थन मूल्य घोषित किया है उसमें एक रुपए की भी बढ़ोत्तरी नहीं की गई है। यही नहीं किसान गन्ना मूल्य भुगतान और गन्ने की पर्ची आदि को लेकर भी हमेशा अपनी परेशानी बताता रहा है। गन्ना किसानों का कहना है कि बेटियों की शादी ब्याह से लेकर बच्चों की फीस देने तक के लिए उन्हें सिर्फ और सिर्फ गन्ना ही नजर आता है। अगर गन्ना मूल्य भुगतान देर से होगा और गन्ने के समर्थन मूल्य दो-दो साल तक नहीं बढ़ेगा तो भला उनके घरों का चूल्हा कैसे जलेगा। गन्ना किसानों का कहना है कि जब उन्हें कोई रास्ता नहीं सूझा तो उन्होंने आंदोलन का ही रास्ता अख्तियार किया है।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com