उत्तर प्रदेशलखनऊ

डीजीपी ने महिला पुलिसकर्मियों को दिया सुरक्षा का मूलमंत्र

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए 112 पीआरवी में तैनात की गई महिला पुलिसकर्मियों को विशेष ट्रेनिंग देकर तैयार किया जा रहा है। ट्रेनिंग में इन महिला पुलिसकर्मियों को मदद मांगने वाली महिलाओं और युवतियों को कैसे मदद पहुंचानी है और उन्हें कैसे सुरक्षित घर तक छोड़ना है, इस बात को बखूबी समझाया जा रहा है।  इन सभी चीजों को लेकर खुद डीजीपी और एडीजी 112 की अगुवाई में महिला पुलिसकर्मियों को ट्रेनिंग देकर तैयार किया जा रहा है।
पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने शनिवार को यूपी 112 मुख्यालय में महिला पुलिसकर्मियों के साथ ब्रीफिंग की और उन्हें उनकी ड्यूटी और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर मूलमंत्र दिया। उन्होंने कहा कि  यूपी पुलिस के लिए महिलाओं की सुरक्षा पहली प्राथमिकता है। ऐसे में पीआरवी 112 में जिन महिला पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है, उन्हें खास ट्रेनिंग देकर तैयार किया जा रहा है। साथ ही पीआरवी में महिला पुलिसकर्मियों के आने से नई शक्ति और स्फूर्ति का संचार हुआ है। इस तरह की शुरूआत के बाद अब किसी भी महिला व बेटी को रात में डरने की जरूरत नहीं होगी। बतातें चलें कि यूपी 112 मुख्यालय में पीआरवी में तैनात महिला पुलिसकर्मियों को 18 दिन की खास ट्रेनिंग कराई जा रही है। डीजीपी ओपी सिंह और एडीजी 112 असीम अरुण की अगुवाई में इन्हें महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी के बाबत विशेष टिप्स दिए गए। गौरतलब हो कि यूपी पुलिस की 112 पीआवी ने रात 10 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक अकेली महिलाओं को उनके सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की जिम्मेदारी ली है।

loading...
Loading...

Related Articles