लखनऊ

यूपी में धारा 144 लागू, जामिया-एएमयू के बाद अब लखनऊ में हिंसक प्रदर्शन

लखनऊ। नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध दिल्ली के बाद उत्तर प्रदेश में भी पहुंच गया है। पूरे यूपी में धारा 144 लागू कर दी गई है। जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के बाद अब लखनऊ में पथराव हुआ है। छात्रों को पुलिस ने परिसर से बाहर नहीं निकलने दिया। इस बीच, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय मामले में अज्ञात छात्रों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। एएमयू प्रशासन ने छात्रों से छात्रावास खाली करने को कहा है ।
नदवतुल उलेमा के छात्रों ने रविवार देर रात भी नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में प्रदर्शन किया था। पुलिस के कड़े इंतजाम थे और छात्रों को परिसर के अंदर कर दिया गया। वहीं अलीगढ़, मेरठ और सहारनपुर में इंटरनेट सेवाएं आज भी बंद रहेंगी ।
प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने बताया कि आज सुबह नदवतुल उलेमा में छात्रों के एक गुट ने विरोध प्रदर्शन कर परिसर से बाहर आने का प्रयास किया लेकिन उन्हें परिसर से बाहर नहीं आने दिया गया। इस पर छात्रों ने परिसर के अंदर से पत्थर फेंके लेकिन इससे कोई घायल नहीं हुआ। जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मौके पर पुलिस बल के साथ मौजूद हैं और किसी भी छात्र को परिसर से बाहर नहीं आने दिया जा रहा है।
डीजीपी ने कहा कि राजधानी लखनऊ के अलावा सोमवार को सुबह से पूरे प्रदेश में स्थिति पूरी तरह सामान्य है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय मामले में अज्ञात छात्रों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने पांच जनवरी तक के लिए छुट्टी घोषित कर छात्रों से छात्रावास खाली करने को कहा है। वहां आज सुबह से अभी तक कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है।
सिंह ने कहा कि अलीगढ़, मेरठ और सहारनपुर में अगले आदेश तक इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। पूरे प्रदेश में फिलहाल शांति बनी हुई है।
वहीं अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुल्हरी ने बताया कि सोमवार को सुबह से नागरिकता संशोधन कानून को लेकर एएमयू परिसर में कोई भी विरोध प्रदर्शन नहीं हुआ है और भारी पुलिस बल तैनात हैं। करीब 25 से 30 फीसदी छात्रों ने छात्रावास खाली करा दिया गया है। आज शाम तक सभी छात्रों के छात्रावास खाली करने की संभावना है। वहीं अबतक 21 गिरफ्तार, 56 नामजद तथा कई अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किए गए हैं।
वहीं, सहारनपुर में इंटरनेट सेवाएं बंद की गई है। देर रात में बनारस और यूपी की राजधानी लखनऊ में भी छात्रों ने प्रदर्शन किया।
इसके अलावा, इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आज 16 दिसंबर को छुट्टी घोषित कर दी गई है। एएमयू और जामिया मिलिया में हुए बवाल के बाद यह फैसला लिया गया। सोमवार सुबह जिला प्रशासन के अफसरों ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन से संपर्क किया और विश्वविद्यालय में एक दिन के लिए छुट्टी घोषित करने की सलाह दी।
जिसके बाद आज छुट्टी घोषित करते हुए विश्वविद्यालय में प्रस्तावित परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई। दोपहर 12:00 बजे से इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन पर छात्रों का धरना प्रदर्शन भी प्रस्तावित है। बवाल की आशंका को देखते हुए वहां बड़ी संख्या में फोर्स की तैनाती की गई है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में स्थगित परीक्षाएं अब 10 जनवरी को होंगी।
गौरतलब है कि रविवार को राजधानी दिल्ली की जामिया यूनिवर्सिटी में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों हटाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया और भीड़ ने करीब आधा दर्जन बसों में आग लगा दी। आठ से  अधिक  बसों में तोड़फोड़ के अलावा कई कारों व दुपहिया वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया।
आग पर काबू पाने पहुंची दमकल की एक गाड़ी को भीड़ ने तोड़ डाला। हमले में एक दमकलकर्मी के अलावा छह पुलिसकर्मी और 42 प्रदर्शनकारियों के घायल होने की खबर है। इनमें दो गंभीर हैं। कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है।
loading...
Loading...

Related Articles