Main Sliderउत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में बवाल : प्रदर्शनकारियों ने बसें फूंकी, पुलिस की कई गाडिय़ों में तोडफ़ोड़

कड़े सुरक्षा इंतजाम और निषेधाज्ञा लागू होने के बीच नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर प्रदेश में आज प्रदर्शनकारियों का प्रदर्शन हिंसक हो गया। संभल में सीएए और एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के दौरान राज्य परिवहन की कई बसों में आग लगा दी गई है। पुलिस की कई गाडिय़ों में भी तोडफ़ोड़ हुई है। मीडिया कर्मियों पर भी हमला किया गया है। कई मीडिया कर्मी घायल हैं। इस प्रदर्शन को सपा समेत कई मुस्लिम संगठन ने बुलाया था। पुलिस चौकी फूंकने का प्रयास किया गया।

मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) ने गुरूवार को राज्यव्यापी प्रदर्शन किया। कानपुर, देवरिया, कन्नौज,वाराणसी और लखनऊ समेत राज्य के विभिन्न जिलों में सीएए के विरोध में सपा कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान कई स्थानों पर रेल और सड़क यातायात बाधित करने का प्रयास किया गया हालांकि सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों को लाठी पटक कर खदेड़ दिया। सपा के उग्र प्रदर्शन के मद्देनजर कुछ स्थानों पर पार्टी नेताओं को उनके घरों से बाहर नहीं निकलने दिया गया। प्रदेश में निषेधाज्ञा लागू है और गुरूवार एवं शुक्रवार को धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं है। राजधानी लखनऊ में जगह जगह बेरीकेडिंग लगाये गये है।

संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में चल रहे प्रदर्शनों के कारण आज दिल्ली-एनसीआर में ट्रैफिक व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुई है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सुबह के व्यस्त समय में भीषण जाम लगा वहीं दिल्ली-गुडगांव मार्ग में वाहनों की लंबी कतारें नजर आईं। दिल्ली-गुडग़ांव रोड पर कई किलोमीटर का लंबा जाम लग गया। नोएडा के महामाया फ्लाइओवर और गुडग़ांव के सरहौल टोल नाका पर लगे लंबे जाम से भी लोग परेशान होते रहे।

सूबे के पुलिस प्रमुख ओपी सिंह ने खुद हजरतगंज क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। सपा कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के कारण शहर में कई स्थानों पर लोगों को जाम जैसे हालात का सामना करना पडा। केडी सिंह बाबू मेट्रो स्टेशन पर एहतियात के तौर पर आवाजाही शाम पांच बजे तक बंद कर दी गयी है। लखनऊ में सुबह साढ़े नौ बजे सपा विधायकों ने विधानभवन परिसर में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के निकट प्रदर्शन किया। वे सीएए के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। इनमे से कुछ विधायक मीडिया का ध्यान आकर्षित करने के लिये विधानभवन के मुख्य द्वार पर चढ़ गये।

उधर, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम काला कानून है जो धर्म के आधार पर देश को बांटने की कोशिश है। कुर्सी की खातिर लागू किये गये इस कानून का विरोध उनकी पार्टी हर स्तर पर करेगी। देवरिया से प्राप्त सूचना के अनुसार शहर में सपा कार्यकर्ताओं ने संविधान बचाओ देश बचाओ के नारे लगाते हुये प्रदर्शन किया। कलेक्ट्रेट गेट पर सुरक्षा बलों ने उन्हे हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेज दिया। गिरफ्तार कार्यकर्ताओं की तादाद करीब 30 बतायी गयी है। जिलाधिकारी अमित किशोर और पुलिस अधीक्षक श्रीपति मिश्र पैदल गश्त करते नजर आये।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com