उत्तर प्रदेशलखनऊ

कड़ी सुरक्षा में पोस्टमार्टम के बाद सीधे कब्रिस्तान ले जाया गया वकील का शव

फायरिंग में घायल एक युवक की हालत गंभीर

लखनऊ। नागरिकता कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान लखनऊ के हुसैनाबाद में गोली लगने से घायल मोहम्मद वकील की गुरुवार देर रात मौत हो गयी थी। शुक्रवार को मो. वकील का पोस्टर्माटम किया गया। इस दौरान टीले वाली मस्जिद के सामने स्थित पोस्टमार्टम हाउस पर भारी पुलिस बल मौजूद रहा। पोस्टमार्टम के बाद मो. वकील का शव एम्बुलेंस से सीधे कब्रिस्तान ले जाया गया है। बालागंज स्थित मिश्री वाली बगिया कब्रिस्तान में मो. वकील को सुपुद-ए-खाक किया जाएगा।
जानकारी के मुताबिक , एक फिर से हिंसा भड़कने की आशंका के चलते प्रशासन ने मो. वकील 33 वर्ष का शव परिजनों को न सौंपकर कड़ी सुरक्षा के बीच सीधे कब्रिस्तान पहुंचाया है। जहां शव दफनाया जा रहा है। शव के साथ वकील के कुछ खास परिजनों को ही बैठाया गया है। वकील के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला है कि उसे 32 बोर की गोली लगी है। पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि पुलिस की गोली उसे नहीं लगी है। वहीं फायरिंग में घायल तीन लोगों में से एक ही हालत गंभीर बतायी जा रही है।  फिलहाल मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।

loading...
Loading...

Related Articles