कारोबार

आपके खास लोगों की सुरक्षा के लिए GPS और मूविंग ट्रैक करता हैं Letstrack का ये बिजनेस मॉडल, इस तरह कर सकते हैं इस्तेमाल

नई दिल्ली. आज के दौर में सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है. चाहे बात बच्चों की हो, महिलाओं की, बड़े-बजुर्गों या फिर आपकी कोई कीमती चीज की. आप 24X7 पल-पल का हाल नहीं जान सकते हैं. लेकिन Letstrack ने इस परेशानी काफी हद तक सुलझा दिया है. आज हम Letstrack के बिजनेस मॉडल पर चर्चा करेंगे और समझेंगे कि कैसे कंपनी देखते ही देखते GPS और मूविंग ट्रैकिंग सिस्टम्स में मार्केट लीडर बन गई.

सिर्फ एक बटन से ट्रैक कर सकते हैं लोकेशन
Letstrack GPS ट्रैकर इस डिवाइस की मदद से आप अपने परिवार के सदस्यों, दोस्तों के अलावा अपने पालतू जानवर की भी लोकेशन लाइव ट्रैक कर सकते हैं. यही नहीं अगर आपको अपनी कीमती चीज जैसे कार, बाइक की चोरी होने की टेंशन सता रही है तो भी Letstrack के पास इसका हल है. सिर्फ एक बटन से आप किसी भी मूविंग ऑब्जेक्ट की लोकेशन तुरंत ट्रेस कर सकते हैं.


GPS और मोबाइल ट्रैकिंग सिस्टम में मार्केट लीडर होने का दावा
लोगों को आराम और सुरक्षा के मकसद से विक्रम कुमार ने Letstrack की पहले UK में शुरुआत की और फिर साल 2016 में भारत में. ये एक एप टू एप और एप टू वेब प्लेटफॉर्म है. Letstrack का डिवाइस पहला वॉयस इंटिग्रेटिड व्हीकल सिस्टम है. स्टार्टअप का दावा है कि वो GPS और मोबाइल ट्रैकिंग सिस्टम में मार्केट लीडर है और दूसरों से बिल्कुल अलग.

इन चार देशों में काम कर रही कंपनी
Letstrack के डिवाइसेस को बिजनेस टू बिजनेस और बिजनेस टू कंज्यूमर का ध्यान रखकर बनाया गया है. स्कूल, लॉजिस्टिक और वित्तीय सेवाओं के लिए Letstrack कस्टमाइज सॉल्यूशन तैयार करती है. कंपनी फिलहाल भारत, श्रीलंका, UK और अमेरिका में ऑपरेशनल है और तेजी से अपने एक्सपेंशन प्लान पर काम कर रही है.

12 करोड़ की सीड फंडिंग
Letstrack के भारत में 2 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं और अगर इन्वेस्टमेंट की बात की जाए तो साल 2018 में US बेस्ड इनवेस्टर ने सीड फंडिंग के तौर पर 12 करोड़ रुपए कंपनी में निवेश किए हैं. Letstrack का दावा है कंपनी का परफॉर्म्स शानदार रहा है और साल 2020 में भी ये बदस्तूर जारी रहेगी.

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com