अंतरराष्ट्रीय

CAA पर बोले माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्य नडेला- जो हो रहा है वह बहुत दु:खद

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने बड़ा बयान दिया है। सत्य नडेला ने सोमवार को एक कार्यक्रम में कहा कि मुझे लगता है कि जो हो रहा है वह दुखद है, यह बहुत बुरा है। मैं एक ऐसे बांग्लादेशी अप्रवासी को देखना पसंद करूंगा जो भारत में आता है और इंफोसिस का अगला सीईओ बनता है।

बज़फीडन्यूज के एडिटर-इन-चीफ बेन स्मिथ ने ट्विट कर बताया कि भारत में जन्मे सत्य नडेला ने एक सवाल के जवाब ये बातें कही है। जिसमें उन्होंने कहा है कि हर देश को अपनी सीमाओं को परिभाषित करना चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा करना और उसके अनुसार आप्रवासी पॉलिसी तैयार करना चाहिए। और लोकतंत्रों में, यह कुछ ऐसा है कि जनता और उनकी सरकारें बहस कर उन सीमाओं को परिभाषित करेंगी।

बता दें कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) पिछले साल 11 दिसंबर को संसद द्वारा पारित किया गया था और 10 जनवरी से यह प्रभावी भी होग गया है। इस कानून के अनुसार हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के जो सदस्य 31 दिसंबर 2014 तक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आए हैं और जिन्हें अपने देश में धार्मिक उत्पीड़न का सामना करना पड़ा है, उन्हें गैरकानूनी प्रवासी नहीं माना जाएगा, बल्कि भारतीय नागरिकता दी जाएगी।

कानून के मुताबिक इन छह समुदायों के शरणार्थियों को पांच साल तक भारत में रहने के बाद भारत की नागरिकता दी जाएगी। अभी तक यह समयसीमा 11 साल की थी। कानून के मुताबिक ऐसे शरणार्थियों को गैर-कानून प्रवासी के रूप में पाए जाने पर लगाए गए मुकदमों से भी माफी दी जाएगी।

loading...
Loading...

Related Articles