उत्तर प्रदेश

दोस्तों ने गैंगरेप के बाद युवती को यमुना एक्सप्रेसवे पर फेंका, पीड़िता ने अस्पताल में मौत

नई दिल्ली। यमुना एक्सप्रेसवे पर जेवर इलाके में शुक्रवार शाम संदिग्ध हालत में घायल पाई गई थी। उसे ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां तबीयत बिगड़ने पर उसे दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में उपचार के लिये ले जाया गया इलाज के दौरान रविवार तड़के युवती ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। युवती के परिजनों ने दोस्तों पर गैंगरेप और हत्या का आरोप लगाया है।

पीड़ित के पिता की शिकायत पर नोएडा सेक्टर-49 थाने में श्याम और सचिन नाम के युवक पर हत्या और गैंगरेप और एससी-एसटी एक्ट का केस दर्ज किया गया है। 20 वर्षिय पीड़िता परिवार के साथ नोएडा सेक्टर-73 स्थित गांव में रहती थी। पिता एक कंपनी की गाड़ी चलाते हैं। मां भी निजी कंपनी में काम करती है। वहीं, पीड़िता सेक्टर-64 स्थित एक कंपनी में काम करती थी।

पीड़िता के पिता ने बताया कि उनकी बेटी शुक्रवार दो दफ्तर गई थी। शाम को उसने फोन पर बताया था कि वह रात में देर से घर लौटेगी। इसी बीच रात 9:30 बजे उसके साथ काम करने वाली युवती का फोन आया कि यमुना एक्सप्रेसवे पर जेवर में टप्पल के पास उनकी बेटी सड़क दुर्घटना में घायल हो गई है। उसे ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रात 11 बजे वह अस्पताल पहुंचे, जहां उनकी बेटी की हालत गंभीर बनी थी। डॉक्टरों ने उसे दिल्ली के जीबीटी अस्तपताल रेफर कर दिया, जहां उपचार के दौरान रविवार तड़के करीब 4 बजे उसने दम तोड़ दिया। पिता ने गढ़ी चौखंडी निवासी श्याम और सर्फाबाद निवासी सचिन पर गैंगरेप का आरोप लगाया है। मथुरा पुलिस ने घटना को हादसा माना है।

loading...
Loading...

Related Articles