Wednesday, September 30, 2020 at 2:47 PM

कछौना ब्लॉक के गांव कामीपुर में ग्राम प्रधान पति द्वारा गौआश्रय स्थल का हुआ उद्घाटन

कछौना(हरदोई):* वर्तमान समय में आवारा पशुओं की ज्वलंत समस्या है। किसान अपनी फसल को बचाने के लिए रात-रात भर रतजगा करने को विवश है। किसानों की मांग पर विकासखंड कछौना की ग्राम सभा कामीपुर में गोआश्रय स्थल का निर्माण कराया गया जिसका बुधवार को ग्राम प्रधान पति मोहम्मद अयूब द्वारा उद्घाटन किया गया जिससे ग्रामवासियों को आवारा पशुओं से निजात मिलेगी। इस अवसर पर पशु चिकित्साधिकारी डॉक्टर रमेश कुमार यादव ने बताया कि हमारे जीवन में पशुओं की उपयोगिता बहुत है, इन्हीं से हमें दूध मिलता है जो हमारे शरीर को पुष्ट करता है। इनके गोबर से हमारे खेतों में खाद मिलती है। हमें पशुओं को पालना चाहिए। कोई भी पशुपालक अपने पशुओं को छुट्टा ना छोड़ें। ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस गोआश्रय स्थल की क्षमता 75 पशुओं की है जिसमें पशुओं को चारा-पानी खिलाने के लिए चन्नी आदि की समुचित व्यवस्था की गई है। इस गो आश्रय स्थल से कामीपुर, ज्ञानपुर, बराही आदि ग्रामों के किसानों को लाभ मिलेगा। आवारा पशुओं के कारण किसानों के सामने जीवकोपार्जन का संकट खड़ा हो गया था। किसानों के साथ पशुओं की बुरी दशा है, यहाँ तक कि गांवों में आवारा पशुओं के कारण लड़ाई झगड़ा की घटनाओं में भी इजाफा हुआ है। गो आश्रय स्थल में दूरदराज के किसानों ने आवारा पशुओं को पहुंचा दिया।
इस अवसर पर पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ रमेश कुमार यादव, हरपाल सिंह, ग्राम सचिव आदर्श कुमार, रोजगार सेवक प्रदेश कुमार, पूर्व ग्राम प्रधान मोहम्मद मजीद, अनूप सिंह क्षेत्र पंचायत सदस्य सहित दर्जनों की संख्या में किसानगण मौजूद रहे।

रिपोर्ट- पी.डी. गुप्ता

loading...
Loading...