मथुरा

सरकार किसानों को दे रही धोखा : कांग्रेस

मथुरा। उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने शनिवार को मथुरा पहुंचकर किसानों द्वारा किये जा रहे आन्दोलन में भाग लिया और आयोजित किसान सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज किसान बहुत ही खराब परिस्थितियों से गुजर रहा है। आज जहां सरकार को किसानों के दुःख, दर्द को सुनना चाहिए था वहां सरकार किसानों को धोखा दे रही है और उनके आन्दोलनों एवं न्याय की मांग को दबाकर उत्पीड़ित कर रही है। जिस उ.प्र. को चीनी का कटोरा कहा जाता रहा है वहां का गन्ना किसान आज खून के आंसू रो रहा है। योगी सरकार में गन्ने का मूल्य एक रूपये भी नहीं बढ़ाया गया, पर्चियों के लिए मारामारी है एवं यह भ्रष्टाचार व माफिया तन्त्र के कब्जे में है। भाजपा जब विपक्ष में थी तो सदन और सड़कों पर कहती थी कि हमारी सरकार आयेगी तो फसलों की कीमत दुगुना कर दूंगा और गन्ने के बकाये का भुगतान कर दूंगा और आपका जनादेश लेकर आज जब ये सत्ता में बैठे हैं तो यह किसानों की जेबों पर डाका डालने का काम कर रहे हैं। चीनी मिले बंद हैं। जिन चीनी मिलों को चालू करने की बात करते थे, बकाये गन्ना मूल्य के भुगतान की बात करते थे, सत्ता की चाबी हाथ में आने पर कुछ भी नहीं किया। धान क्रय केन्द्र भ्रष्टाचार केन्द्र बन गए हैं और मुख्यमंत्री कहते हैं कि जीरो टारलेन्स पर सरकार चला रहे हैं।
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार 2500 रूपये में धान खरीद रही है जबकि उ0प्र0 में धान की कीमत बमुश्किल से 1500 रूपये प्रति कुंतल से भी कम है जो बीजेपी के चुनावी वादों का मखौल उड़ाते हैं। कर्ज में डूबा हुआ बुन्देलखण्ड का किसान आत्महत्या करने के लिए मजबूर है फिर भी यह सरकार उन मजबूर किसानों को जेल में डालकर पैसा वसूलने का प्रयास कर रही है। किसानों को अपनी जमीन का अधिक मूल्य दिलाने के लिए श्री राहुल गांधी जी भूमि अधिग्रहण कानून लाये थे और यह सरकार उस कानून में संशोधन करके किसानों की जमीनों को छीनकर पूंजीपतियों को देने का षडयन्त्र कर रही है। यही हाल आलू उत्पादकों का भी है जब इसी सरकार में वह अपना आलू सड़कों पर फेंकने के लिए मजबूर हुआ था और सरकार ने उसकी सुनने के बजाय उन पर मुकदमें दर्ज करने का काम किया। उन्होंने योगी सरकार से पूछा कि किसानों के हित के लिए कौन से कार्य किए हैं? उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में जहां किसानों की आय लगातार बढ़ी और ग्रामीण रोजगार की दर 17.2 प्रतिशत थी वहीं आज घटकर 6.6 प्रतिशत हो गयी है। उन्होंने बिजली और खाद के दामों में हुई बेतहाशा वृद्धि पर भी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि महंगाई बेतहाशा बढ़ी है किन्तु किसानों की आय लगातार घटी है। किसान दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है। उन्होने किसानों के ऊपर दर्ज किए जा रहे की आलोचना करते हुए सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों के सारे मुकदमें उनके ऊपर करें और सत्ता की दीवारों को ऊंचा कर लें क्योंकि कांग्रेस पार्टी किसानों की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मौके पर प्रदेश सरकार से मांग की है कि गन्ने की घटतौली तत्काल प्रभाव से रोकी जाए, गन्ना किसानों का बकाये मूल्य का भुगतान किया जाए और गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाकर 450 रूपये प्रति कुन्तल किया जाए। उन्होने किसानों की पीड़ा, नौजवानों को बेरोजगारी एवं महिलाओं को असुरक्षा से मुक्ति दिलाने की मांग की।

loading...
Loading...

Related Articles