उत्तराखंड

प्राइवेट डिग्री कॉलेजों में नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कराए जाने का निर्णय

देहरादून। डिग्री कॉलेजों में लंबे समय से नौकरी का इंतजार कर रहे यूजीसी व नेट पास अभ्यर्थियों के लिए अच्छी खबर है। राज्य के अशासकीय डिग्री कॉलेजों में रिक्त पड़े 300 से अधिक पदों को जल्द भरा जाएगा। इन पदों पर नियुक्ति कॉलेज के आरक्षण रोस्टर के आधार पर होगी। इसके लिए कॉलेज प्रबंधन को उच्च शिक्षा निदेशालय की मंजूरी लेनी होगी। जांच में आरक्षण रोस्टर सही पाए जाने पर ही कॉलेज में रिक्त पड़े पदों पर भर्ती प्रक्रिया को मंजूरी दी जाएगी। राज्य में वर्तमान में 18 अशासकीय डिग्री कॉलेज संचालित हो रहे हैं। इसमें से एक डिग्री कॉलेज कुमाऊं के काशीपुर तथा शेष 17 डिग्री कॉलेज गढ़वाल मंडल में संचालित किए जा रहे हैं।

इन डिग्री कॉलेजों में लंबे समय से प्राध्यापकों की तैनाती नहीं हो पाई है। इसके चलते इन कॉलेजों में 300 से अधिक पद खाली पड़े हुए हैं। अब शासन स्तर से अशासकीय डिग्री कॉलेजों में नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कराए जाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए उच्च शिक्षा निदेशालय को दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। राज्य के सभी अशासकीय डिग्री कॉलेजों में नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होने से पहले प्रबंधन को उच्च शिक्षा निदेशालय से आरक्षण रोस्टर की जांच करानी होगी। आरक्षण रोस्टर को उच्च शिक्षा निदेशक से हरी झंडी मिलने के बाद ही कॉलेजों में नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जा सकेगी। इसके लिए उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. एनपी माहेश्वरी ने सभी अशासकीय डिग्री कॉलेजों के आरक्षण रोस्टर के दस्तावेज तलब कर लिए हैं। आरक्षण रोस्टर की निदेशालय से जांच के बाद पदों को भरा जाएगा।

राज्य के 18 अशासकीय डिग्री कॉलेजों में नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कराने के लिए निदेशालय ने आरक्षण रोस्टर के दस्तावेज तलब कर लिए हैं। दस्तावेजों की जांच के बाद उनके सही पाए जाने पर ही डिग्री कॉलेजों में प्राध्यापकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने की मंजूरी दी जाएगी।
डॉ. एनपी माहेश्वरी, निदेशक, उच्च शिक्षा

loading...
Loading...

Related Articles