Main Sliderराष्ट्रीय

शाहीनबाग ने कहा, मोदी शाह हमें समझाये कि CAA संविधान के खिलाफ नहीं, हम वापस हो जायेगें

नई दिल्ली। शाहीन बाग में सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वहां आने और उनके साथ वेलेंटाइन डे मनाने का न्योता दिया है। संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और प्रस्तावित एनआरसी को वापस लिए जाने की मांग को लेकर पिछले साल 15 दिसंबर से विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी मोदी के लिए ‘प्यार वाला एक गीत और एक ‘सरप्राइज’ भेंट भी पेश करेंगे।

प्रदर्शन स्थल पर इसके पोस्टर लगाए गए हैं और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी इसे प्रसारित किया गया है। इसमें लिखा है, ‘प्रधानमंत्री मोदी, कृपया शाहीन बाग आएं, अपना गिफ्ट ग्रहण करें और हमसे बात करें।

शाहीन बाग में एक प्रदर्शनकारी तासीर अहमद ने मीडिया से कहा, ‘चाहें, प्रधानमंत्री मोदी या गृहमंत्री अमित शाह आएं या कोई और, वे आ सकते हैं और हमसे बात करें। अगर वह हमें समझा देंगे कि जो भी हो रहा है वो संविधान के खिलाफ नहीं है तो हम अपना यह प्रदर्शन खत्म कर लेंगे।” उन्होंने कहा कि सरकार के दावे के मुताबिक सीएए नागरिकता देगा ना कि किसी की नागरिकता लेगा लेकिन कोई भी ये नहीं बता रहा कि यह देश के लिए मददगार कैसे होगा।

वैलेंटाइंस-डे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शाहीन बाग में प्यार का पैगाम देने के लिए गुरुवार को ‘मोदी हैशटैग तुम कब आओगे’ सेलिब्रेशन हुआ और प्रधानमंत्री मोदी के लिए शाहीन बाग के लोग एक टेडी बियर लेकर आए और ये संदेश देने की कोशिश की कि “प्रधानमंत्री मोदी, आप आइए और हमसे बात करिए, नफरत मत करिए।” साथ ही कहा कि “शाहीनबाग आइए, प्यार के त्योहार का जश्न मनाइए, प्यार बांटिए और अपना तोहफा लेकर जाइए।”

शाहीन बाग में हुए इस कार्यक्रम में कई प्रदर्शनकारी खफा भी नजर आए। कुछ महिलाओं का कहना है कि जामिया में दो दिन पहले छात्रों के साथ मारपीट की गई और दो दिन बाद इस तरह का कार्यक्रम शाहीन बाग में करना एक गलत संदेश देना है। उन्होंने कहा कि 17 फरवरी को शाहीन बाग में सड़क पर चल रहे प्रदर्शन को लेकर फैसला आना है और जिन्होंने भी यह कार्यक्रम तय किया, उन्होंने ज्यादा लोगों से नहीं पूछा। कई लोग बीच में से उठकर चले गए। ये उन्हें अच्छा नहीं लगा।

loading...
Loading...

Related Articles