Main Sliderअन्य राज्य

वारिस पठान के खिलाफ विवादित बयान देने पर अलग-अलग घाराओं के तहत FIR दर्ज

कर्नाटक। कलबुर्गी पुलिस [Kalburgi Police] ने भड़काऊ भाषण देने के लिए एआइएमआइएम [AIMIM] के नेता वारिस पठान के खिलाफ अलग-अलग घाराओं के तहत एफआइआर [FIR under different houses] दर्ज किया है। पुलिस ने पठान के खिलाफ दंगा भड़काने के इरादे से [With the intention of provoking a riot] लोगों को उसाने के मामले में आपीसीसी की धारा [Section of APCC] 117, 153 और विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना के लिए धारा 153A के तहत केस दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि कर्नाटक के गुलबर्गा में 19 फरवरी को सीएए विरोधी रैली में लोगों को संबोधित करते हुए वारिस पठान ने कहा था कि 100 करोड़ पर 15 करोड़ भारी पड़ेंगे।

कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने कहा कि मुहम्मद अली जिन्ना [Mohammad Ali Jinnah] इस तरीके से बोलते थे। दलवई ने समाचार एजेंसी एएनआइ से कहा,’ये ऐसा है कि जिन्ना इस तरह से ही बातें करते थे। उन्हें ये ध्यान रखना चाहिए कि देश में जिन्ना पैदा नहीं होगा।

वहीं, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह [Congress leader Digvijay Singh] ने शुक्रवार को कहा कि पठान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। इसी तरह की टिप्पणी असदुद्दीन ओवैसी के भाई अकबरुद्दीन ओवैसी [Asabuddin Owaisi’s brother Akbaruddin Owaisi] भी करते हैं।

तेलंगाना में भारतीय जनता पार्टी [Bharatiya Janata Party] के नेता रामचंद्र राव [Ramchandra Rao] ने शुक्रवार को कहा कि वारिस पठान पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।

समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी भाषा अकबरुद्दीन ओवैसी ने बैसन में निर्मल में बोली थी। इस प्रकार की भाषा और दृष्टिकोण से पता चलता है कि इस पार्टी में अलगाववादी प्रवृत्ति [Isolationist tendency] बढ़ रही है। हम इसकी निंदा करते हैं और असदुद्दीन ओवैसी को माफी मांगनी चाहिए।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com