लाइफ स्टाइल

सेहत को फिट रखनें के लिए इन चीजों को करें अपनी डाइट में शामिल, होता है भरपूर प्रोटीन और वेजिटेरियन

हमारे नॉन वेजिटेरियन दोस्तों का नॉनवेज खाने के पीछे प्रोटीन की पूर्ति का तर्क होता है। वहीं, कभी-कभी नॉन वेजिटेरियन लोग वेजिटेरियन लोगों को प्रोटीन की पूर्ति के लिए नॉनवेज खाने पर जोर देते हैं।  ऐसे में वेजिटेरियन होने के नाते लगता है कि क्या हम सच में प्रोटीन की मात्रा से वंचित हो रहे हैं! अगर आप या आपका कोई दोस्त वेजिटेरियन है, तो आप उन्हें प्रोटीन की पूर्ति करने वाली कुछ ऐसी चीजें बता सकते हैं, जो नॉन वेज फूड का बेस्ट ऑप्शन्स में गिने जाते हैं।

टोफू 
टोफू सोयाबीन से बना हुआ होता है।  जो प्रोटीन का सबसे अच्छा स्त्रोत है।  यह शरीर के लिए जरूरी अमीनो एसिड की पूर्ति करता है। टोफू बेशक से ज्यादा टेस्टी नहीं होता लेकिन इसे बनाते समय मसाले का इस्तेमाल करके इसे टेस्टी बनाया जा सकता है।

दाल 
भारतीय भोजन में दाल एक मुख्य आहार है। दाल को कई तरीकों से खाई जाती है।  इसमें काफी प्रोटीन पाया जाता है। लाल और हरी दाल में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, आयरन, पोटेशियम होता है।

 

lentils

 

काबुली चना 
सफेद चने को काबुली चना कहा जाता है। प्रोटीन से भरपूर इस खाद्य पदार्थ को सब्जी के अलावा सलाद, चाट में भी खाया जाता है। भिगाए हुए चने में सबसे ज्यादा प्रोटीन होता है। चने में प्रोटीन की मात्रा बनाए रखने के लिए इसे ज्यादा उबालना नहीं चाहिए।

 

मूंगफली 
मूंगफली को आम जन का ड्राई फ्रूट कहा जाता है। काजू, बादाम, पिस्ता और किशमिश की तुलना में मूंगफली का दाम बहुत कम होता है। वहीं, अगर आपको मूंगफली छिलकर खाने में आलस आता है, तो आप पीनट बटर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

बादाम 
बादाम आपकी स्किन, बाल, दिमाग, आंखों और दिमाग के लिए बहुत लाभकारी है।  बादाम में प्रोटीन की प्रचुर मात्रा होती है।  जिन लोगों को बादाम खाने से एलर्जी हो जाती है। वो बादाम भिगाकर खा सकते हैं।

 

almond

 

ओट्स 
आप मसाला ओट्स खाएं या स्वीट, दोनों में प्रोटीन की मात्रा सबसे ज्यादा होती है।  ओट्स बनाते हुए ध्यान रखना चाहिए कि इसे ज्यादा देर तक न पकाएं।

loading...
Loading...

Related Articles