कानपुर

दिल की बीमारी से परेशान छात्र ने फाँसी लगाकर दी जान 

कानपुर। सजेती में दिल की बीमारी से परेशान छात्र ने फाँसी लगाकर आत्म हत्या कर ली। छात्र के दिल मे छेद होने की वहज से वह अक्सर परेशान रहता था। दो दिन पूर्व वह बोर्ड एग्जाम देते समय भी बेहोश हो गया था। करीब दो साल से युवक का छात्र के ह्रदय रोग संस्थान मैं उपचार चल रहा था। लेकिन कोई फायदा ना मिलने से वह बहुत परेशान था। घटना की जानकारी होते ही पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
सजेती थाना क्षेत्र के बैरी माधोपुर निवासी मेवालाल किसान है। परिवार में चार बेटे व एक बेटी है। छोटा बेटा सुजीत (18) 12वीं क्लास का छात्र था। मेवा लाल ने बताया कि बचपन से ही बेटे के दिल में छेद था। जिसकी वजह से सुजीत अक्सर परेशान रहता था।करीब दो साल से बेटे का उपचार हृदय रोग संस्थान मैं चल रहा था। लेकिन कोई फायदा भी नहीं मिल रहा था। बेटे के 12वीं क्लास के बोर्ड एग्जाम चल रहे थे। जब वह पहला पेपर देने के लिए स्कूल गया था तो वहां पर भी अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। जिससे वह बेहोश हो गया था। काफी देर बाद उसको होश आया था। इसी से परेशान होकर बेटे ने रविवार को देर शाम घर में मफलर से कुंडे के सहारे लटक कर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छोटे बेटे अमन ने जब भाई का शव कुंडे से लटकता देखा तो घटना की जानकारी परिजनों को दी। जानकारी मिलते ही परिजन जब मौके पर पहुंचे तो बेटे का शव लटकता देख घर में कोहराम मच गया। इसी बीच परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
loading...
Loading...

Related Articles