लखनऊ

आपातकालीन मामलों से निपटने के लिए अपोलोमेडिक्स ने किया एजुकेशन प्रोग्राम

लखनऊ। अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल,ने एक मेडिकल एजुकेशन प्रोग्राम “ईमेड कनेक्ट” का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में आपातकालीन स्थिति के मामलों के प्रबंधक तंत्रो के बारे में बताया गया। इसमें उन प्रक्रियाओं और उपचार पर प्रकाश डाला गया है, जो कि अस्पताल द्वारा मरीज के आपातकालीन मामलों में जीवित रहने की संभावना को बढ़ाने का दावा कर सकतीं है।

कई यूनिट के डॉक्टरों और चिकित्सा अधिकारियों ने भी भाग

इस कार्यक्रम में लखनऊ शहर व विभिन्न अस्पतालों से आपातकालीन यूनिट के डॉक्टरों और चिकित्सा अधिकारियों ने भी भाग लिया। अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के डायरेक्टर मेडिकल सर्विसिस व चीफ कंसलटेंट इमरजेंसी मेडिसिन, डॉ। अजय कुमार ने वहा मौजूद डॉक्टरों और पेशेवरों को शिक्षित करते हुए अपोलो इमरजेंसी यूनिट में सक्षम उपचार व डॉक्टरों के बल पर सफलतापूर्वक किये जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण मामलों को भी प्रस्तुत किया।

कुछ नाजुक मामले भी ले लेते हैं आपातकालीन मामलों का रूप —डॉ अजय

आपातकालीन मामलों की गंभीरता के बारे में बताते हुए, डॉ। अजया कुमार ने बताया की,“यह कार्यक्रम अस्पताल की नवीनतम तकनीकियों व उपकरणों का लाभ उठाकर आपातकालीन यूनिट को मजबूत बनाने के उद्देश्य से आयोजित किया गया है। इसके चलते,लोगों को भी कुछ सलाह देना चाहूंगा क्यूंकि मरीजों की लापरवाही के कारण भी कुछ नाजुक मामले,आपातकालीन मामलों का रूप ले लेते है। मरीजों को कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए जो ऐसे गंभीर मामलों में उनकी जीवित रहने की संभावना को बढ़ा सकते हैं,जैसे कि लोगों को परेशानियों या लक्षणों की उपेक्षा न करते हुए तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए जो मामले को गंभीर होने से बचाता है, इसके साथ-साथ हमेशा हेल्थ चेक-अप को नियमित रूप से अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।

आपातकाल मामलों से निपटने के लिए  24×7 तैयार— मयंक

अस्पताल के डायरेक्टर और सीओ डॉ। मयंक सोमानी ने कहा कि, “ये एजुकेशन प्रोग्राम हैल्थकेयर इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने व आपातकालीन मामलों में रोगियों की सेवा करने का बढ़ावा देता है। अपोलोमेडिक्स में, हम सभी नई तकनिको के साथ किसी भी प्रकार के आपातकाल मामलों से निपटने के लिए  24×7 तैयार है।”

loading...
Loading...

Related Articles