Main Sliderराष्ट्रीय

मुख्यमंत्री ने नोएडा विकास प्राधिकरण की 2821 करोड़ रु0 की परियोजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास

गौतमबुद्धनगर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद गौतमबुद्धनगर में नवीन ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण (नोएडा) की 2821 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इनमें 1452 करोड़ रुपए की योजनाओं का लोकार्पण और 1369 करोड़ रुपए की 10 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है।
मुख्यमंत्री ने जिन योजनाओं का लोकार्पण किया उनमंे 580 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित मल्टीलेवल पार्किंग, जी0आई0एस0 पद्धति पर 366 करोड़ रुपए के 4 विद्युत उपकेन्द्र, 344 करोड़ रुपए की लागत का जिला संयुक्त चिकित्सालय, बाॅटेनिकल गार्डन में 98.45 करोड़ रुपए की लागत का जी0आई0एस0 पद्धति का 220/33 के0वी0 उपकेन्द्र, 32.25 करोड़ रुपए लागत की भूमिगत पार्किंग, 10.81 करोड़ रुपए लागत का फुटओवर ब्रिज, 10 करोड़ रुपए से लूप-इन लूप-आउट लाइन का निर्माण, 10 करोड़ रुपए से 2 फुटओवर ब्रिज, 76 लाख रुपए से निर्मित 4 पिंक टाॅयलेट का निर्माण शामिल हैं।
नोएडा विकास प्राधिकरण के तत्वाधान में बाॅटेनिकल गार्डन में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि नोएडा देश के विकास की तस्वीर है। विगत तीन वर्षों में नोएडा, ग्रेटर नोएडा एवं यमुना विकास प्राधिकरण ने आपसी सामंजस्य एवं जनप्रतिनिधियों के सहयोग से तेजी से विकास की गति पकड़ी है। विगत सरकारों की अधूरी परियोजनाओं तथा नई परियोजनाओं में जिस प्रकार से गतिशीलता आयी है, उससे गौतमबुद्धनगर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सामूहिकता के मूलमंत्र को अपना कर सबका साथ सबका विकास नोएडा में साकार हो रहा है। आज देश की सबसे बड़ी मल्टीलेवल पार्किंग, जिसकी क्षमता 7500 वाहन है, का लोकार्पण किया गया है। इसी प्रकार 344 करोड़ रुपए की लागत से सभी सुविधाओं से युक्त जिला चिकित्सालय बनाया गया है। जीवन में बेहतरी के लिए जो सुविधायें होनी चाहिए, वह पिछले 3 वर्षों से उत्तर प्रदेश में दिख रही हैं। प्रदेश निरन्तर विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के बडे़-बडे़ स्किल डेवलप्मेण्ट एवं शिक्षण संस्थान नोएडा में स्थापित हैं। नौकरी और रोजगार देना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। सरकार द्वारा प्रदेश के युवाओं को आर्थिक स्वालम्बन में आगे बढ़ाने के उद्देश्य से नई योजना प्रारम्भ की जा रही हंै, जिसमें इन संस्थानों में पढ़ने वालो युवाओं को उद्योगों से जोड़कर उन्हंे रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। जो युवा आर्थिक स्वालम्बन से जुडे़ंगे, उन्हें रोजगार के साथ-साथ सरकार द्वारा 2500 रुपए प्रतिमाह की दर से मानेदय भी दिया जायेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि नोएडा के विकास को आगे बढ़ाने और स्मार्ट सिटी बनाने के लिए कानून व्यवस्था और सुदृढ़ होनी चाहिए। इसके दृष्टिगत गौतमबुद्धनगर में पुलिस को स्मार्ट बनाने के उद्देश्य से पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू की गयी है। इसी श्रंृखला मंे विगत दिवस पुलिस आयुक्त के कार्यालय का भी लोकार्पण किया गया। नोएडा के विकास को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर तक ले जाने में सभी की संयुक्त सहभागिता होगी, तो नोएडा देश में ही नहीं पूरे विश्व में विकास की दृष्टि से एक माॅडल के रूप मंे प्रदर्शित होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद के तीनों प्राधिकरण, जिला प्रशासन, पुलिस कमिश्नर जनपद में प्रवास कर रहे सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधिकारियों के अनुभवों का लाभ इस क्षेत्र के विकास के लिए लिया जाए। इस क्षेत्र के विकास में मीडिया का भी अहम रोल है। नोएडा में सभी मीडिया हाउस मौजूद हैं। नोएडा में किये गये  अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के बड़े विकास कार्याें को यदि मीडिया देश-विदेश तक पहुंचाएगा तो यहां का विकास और अधिक गतिशीलता के साथ आगे बढ़ सकेगा। मीडिया के इस प्रयास से पूरी दुनिया के उद्यमी यहां निवेश कर सकेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जेवर में अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट आने से यहां की युवा पीढ़ी का भविष्य बनेगा और क्षेत्र का तेज विकास होगा। उन्हांेने जेवर एयरपोर्ट मंे जमीन देने वाले किसानांे का पुनः धन्यवाद किया। किसानों को जो धनराशि मुआवजे के रूप में प्राप्त हुयी है, उसे वे अपनी पीढ़ी के भविष्य को संवारने के लिए निवेश करें, ताकि उनके परिवार का आर्थिक विकास हो सके। जनपद गौतमबुद्धनगर में तीनों प्राधिकरण एक साथ मिलकर कार्य कर रहे है और वह आगे भी इसी सहभागिता के साथ कार्य करते हुये नोएडा को स्मार्ट बनाने में अपनी भूमिका निभायेंगे।
loading...
Loading...

Related Articles