लाइफ स्टाइल

बीमारी होने पर खुद ही बन जाते हैं अपने डॉक्टर तो, जानें नुकसान

अक्सर देखा जाता हैं कि सर्दी-खांसी, जुखाम-बुखार, शरीर दर्द जैसी आम बीमारी होने पर लोग अपनेआप डॉक्टर बनने लगते हैं और पैरासिटामॉल एवं पेनकिलर खा लेते हैं। ऐसे में यह आपके लिए घातक हो सकता हैं क्योंकि आपके अनुसार चुनी गई कोई भी दवा आपके लिए कई गंभीर समस्याओं का कारण बन सकती हैं और कई बार तो जानलेवा भी साबित होता हैं। आइये जानते हैं इसके नुकसान के बारे में।

कफ सीरप से विजन लॉस का खतरा

कफ सीरप में ऐंटिहिसटैमिन्स होते हैं जिससे छींक आना, खांसी और नाक बहने की दिक्कत दूर होती है। लेकिन अगर इनका ज्यादा सेवन किया जाए तो शरीर में सुस्ती आने लगती हैं, नींद आने लगती है और बहुत से ऐंटिहिस्टैमिन्स तो ऐसे भी होते हैं जिनसे नजरें कमजोर हो सकती हैं और विजन लॉस का भी खतरा रहता है।

Health tips,health tips in hindi,painkillers and paracetamol,side effects ,हेल्थ टिप्स, हेल्थ टिप्स हिंदी में, पैरासिटामॉल एवं पेनकिलर के नुकसान

पेनकिलर्स से कब्ज की समस्या

ज्यादातर पेनकिलर्स का अगर ज्यादा सेवन किया जाए तो उनसे कब्ज की दिक्कत हो सकती है। ऐसे में अगर आपके डॉक्टर भी आपको स्ट्रॉन्ग पेनकिलर प्रिस्क्राइब कर रहे हैं तो वे साथ में ऐंटासिड या लैक्सेटिव भी देते हैं ताकि ऐसिडिटी या कब्ज की दिक्कत ना हो। पेनकिलर्स का ज्यादा यूज करने से अक्सर मुंह सूखने की भी दिक्कत हो सकती है।

पैरासिटामॉल से अल्सर का खतरा

पैरासिटामॉल दवा का इस्तेमाल आमतौर पर फीवर होने पर किया जाता है। लेकिन अगर डॉक्टर से पूछे बिना और प्रिस्क्रिप्शन के बिना इस दवा का बहुत ज्यादा सेवन किया जाए तो इससे ऐसिडिटी और पेट में अल्सर होने का खतरा रहता है। स्थिति गंभीर होने पर खून की उल्टी भी हो सकती है।

आइब्रूप्रोफेन से हाई बीपी की समस्या

आइब्रूप्रोफेन और पैरासिटामॉल को मिलाकर जो सबसे कॉमन पेनकिलर बनती है वो है कॉम्बिफ्लेम और यह सबसे कॉमन पेनकिलर है जिसका इस्तेमाल ज्यादातर लोग करते हैं। लेकिन इस दवा का भी बहुत ज्यादा सेवन करने से लंग्स की प्रॉब्लम हो सकती है और अस्थमा भी हो सकता है। इसके अलावा हाई बीपी, प्रॉस्टेट से जुड़ी दिक्कतें और थाइरॉयड प्रॉब्लम भी हो सकती है।

loading...
Loading...

Related Articles