पटनाबिहार

सुकमा में शहीद हुये 17 जवानों के बाद औरंगाबाद में मिले 64 आईईडी बम

 बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए नक्सलियों ने बिछाया था आईईडी बम
>> सीआरपीएफ के 205 कोबरा व बम स्क्वायड टीम ने सभी बम को किया डिफ्यूज
पटना ( अ सं ) । छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुये 17  जवानों के बाद नक्सलियों ने बिहार के औरंगाबाद में बड़े हमले को लेकर रणनीति तैयार किया था । घटना पूर्व नक्सलियों की गहरी साजिश को सीआरपीएफ ने नाकाम करते हुये 64 आईईडी बम बरामद किया हैं  । जिसे सावधानी पूर्वक डिफ्यूज कर दिया गया हैं ।
        सीआरपीएफ को गुप्त सूचना मिली की औरंगाबाद जिले के मदनपुर थाना अंतर्गत कनोधी गांव से डेढ़ किलोमीटर दक्षिण लहंगस्थान पहाड़ के घनघोर जंगल में, जहां से रास्ता धावाटेकर होते हुए लंगुराही जाती हैं ,इस रास्ते पर नक्सलियों द्वारा सुरक्षा बलों को टारगेट करने के लिए भारी मात्रा में जमीन के अंदर आईईडी बम लगाया गया था।
      सीआरपीएफ आईजी (बिहार ) ने 205 कोबरा बटालियन, बम निरोधक दस्ता एवं जिला पुलिस को लेकर डीआईजी , 153 बटालियन के कमांडेंट एवं एएसपी ( ऑपरेशन ) के नेतृत्व में टीम गठित किया एवं कार्रवाई का निर्देश दिया  ।
    टीम ने 23 मार्च को मदनपुर स्थित लहंगस्थान पहाड़ के घनघोर जंगल में घेराबंदी कर छापेमारी किया ।इसमें जमीन के अंदर से 64 आईईडी बम बरामद किया गया । बरामद बमों की क्षमता काभी शक्तिशाली मानी जाती हैं । बम निरोधक दस्ता की मदद से सभी बरामद आईईडी बमों को डिफ्यूज कर दिया गया हैं ।सीआरपीएफ आईजी ने मिली सफलता पर टीम को हौसला अफजाई के लिए रिवार्ड व प्रशंसा -पत्र दिया गया ।
loading...
Loading...

Related Articles