उत्तर प्रदेशहरदोई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशानुसार पंजीकृत श्रमिकों को उपलब्ध कराया जाएगा निशुल्क राशन

अपर मुख्य सचिव ने दिया आदेश स्थानीय मंडियों में खाद्य सामग्री बल्क की ना रोकी जाए सप्लाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश को दिखा रहे ठेंगा, धड़ल्ले से बिक रहा गुटखा पान मसाला
कोरोना की महामारी को लेकर किए गए देशभर में लॉकडाउन का ग्रामीण क्षेत्र में नहीं दिखा असर
अन्य राज्यों से आए हुए मजदूर धड़ल्ले से कर रहे कार्य नहीं पड़ रहा लॉकडाउन का असर*
आवश्यक सामग्री मंगवाने हेतु नगर पंचायत की तरफ से किराना, फल, सब्जी व दूध के दुकानदारों एवं ई-रिक्शा चालकों को किया गया चिन्हित

कछौना (हरदोई)। प्रदेश में 21 दिन के लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश की जनता को 1 अप्रैल से अंत्योदय कार्ड धारक को मनरेगा श्रमिक श्रम विभाग से पंजीकृत श्रमिकों को उचित दर विक्रेताओं द्वारा डोर टू डोर निशुल्क राशन उपलब्ध कराया जाएगा जिसके आम जनमानस को कोई दिक्कत न हो। उसी के चलते अपर मुख्य सचिव ने आदेश दिया है स्थानी मंडियों में खाद्य सामग्री की बल्क सप्लाई को ना रोका जाए। खाद्य सामग्री विक्रेता, किसान को सब्जी पहुंचाने में दिक्कत ना की जाए।इस बात पूर्णतः ध्यान रखा जाए।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आदेश दिया कि यूपी में पान मसाला व गुटखा पर पूर्णतः प्रतिबंध हो जाना चाहिए जिसके बावजूद कस्बा व ग्रामीण क्षेत्र के किराना दुकानदार धड़ल्ले से पान मसाला व गुटखा बेच रहे हैं। जिससे लोग मसाला खाकर सार्वजनिक स्थलों पर थूकने से सहायक रोग फैलने की प्रबल संभावना बनी रहती है। कोरोना की महामारी को रोकने के लिए देश भर में 21 दिनों तक के लिए लॉकडाउन की शुरुआत हो गई है। कस्बों में सन्नाटा नजर आता है परंतु ग्रामीण क्षेत्र के लोग इस महामारी को मजाक बना रहे है ग्रामीण वासी इस महामारी से बिल्कुल गंभीर नहीं है वह लॉकडाउन को गांव में जुआ का फड़ लगा कर बच्चों को खेलने का आनंद ले रहे हैं। इन ग्रामीण वासियों की तरफ गंभीरता न लेना अन्य जनमानस के लिए मुसीबत का काल बन जाएगा।
ग्रामीण क्षेत्र में स्थित ईंट भट्टो पर दूरदराज बिहार सहित अन्य राज्यों के आये मजदूर पुरुष, महिला, बच्चे धड़ल्ले से ईंट पाथने का कार्य कर रहे हैं जिस में अधिकांश का श्रम विभाग में पंजीकरण नहीं है उनके ऊपर लॉकडाउन का असर अभी भी नहीं नजर आ रहा है। इन्ही सब को देखते हुए 21 दिन के लॉकडाउन से कई परिवारों में खाद्य सामग्री न होने पर आवश्यक सामग्री मंगवाने हेतु नगर पंचायत की तरफ से आवश्यक वस्तुओं से संबंधित किराना, फल, सब्जी, दूध विक्रेताओं को चिन्हित किया गया है। जिनके द्वारा डिलीवरी की व्यवस्था की गई है जिससे वार्ड-वार्ड किराना दुकानदार ई रिक्शा चालक, सब्जी, फल विक्रेताओं सूचीबद्ध करके उनके मोबाइल नंबर सहित दिए गए हैं जिनके मोबाइल पर कॉल करके जरूरतमंद चीजें मंगा सकते हैं लेकिन अभी तक या व्यवस्था ग्रामीण क्षेत्र में लागू नही की गई है।

रिपोर्ट: विवेक राठौर

loading...
Loading...

Related Articles