कारोबार

लॉकडाउन: कोरोना की जंग में भी जुटे हैं बैकिंग स्टाफ, इस बैंक के कर्मचारियों को हर छह दिन के काम पर एक दिन का अतिरिक्त वेतन

देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से अधिकतर लोग घरों के भीतर हैं, लेकिन बहुत से लोग खतरा मोल लेकर काम में जुटे हैं। स्वास्थ्य कर्मियों के अलावा बैंकिंग सेक्टर के कर्मचारी भी इसमें शामिल हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने उन कर्मचारियों को अधिक वेतन देने का फैसला किया है जो लॉकडाउन में भी ब्रान्च में बैठकर काम कर रहे हैं।

स्टेट बैंक ने एक सर्कुलर जारी करते हुए इसकी घोषणा की। बैंक ने कहा है कि लॉकडाउन अवधि में ब्रान्च में काम कर रहे कर्मचारियों को हर छह दिन के काम पर एक दिन का अतिरिक्त वेतन (बेसिक+डीए) दिया जाएगा। यह नियम 23 मार्च से 14 अप्रैल या लॉकडाउन की समाप्ति तक जारी रहेगा।

स्टेट बैंक ने सर्कुलर में कहा, ‘इस चुनौतीपूर्ण परिस्थिति में ग्राहकों को सेवा दे रहे हमारे कर्मचारियों की स्वार्थरहित सेवा को देखते हुए उन्हें अतिरिक्त वेतन उचित होगा। बैंक अपने कर्मचारियों के प्रति संवेदनशील है और उनके प्रतिबद्धत प्रयासों में उनके साथ है।’

अतिरिक्त वेतन उन सभी कर्मचारियों को दिया जाएगा जो ब्रान्च, सीपीसी, सीएसी, ट्रेजरी ऑपरेशंस, ग्लोबल मार्केट, जीआईटीसी और आईटी सर्विस दे रहे हैं। बताए गए अवधि में कर्मचारियों को यह राशि एचआरएमएस के जरिए दी जाएगी।

सर्कुलर में कहा गया है, ‘कोविड-19 के फैलने और फिर सरकार की ओर से लॉकडाउन की घोषणा के बाद भी हमारे ब्रान्च और सीपीसी में कम चल रहा है। कर्मचारी इस मुश्किल घड़ी में ग्राहकों को बैंकिंग सुविधा दे रहे हैं।’ एसबीआई ने एक ट्वीट में कहा, ‘हम उन स्टाफ मेंबर्स को सैल्यूट कर रहे हैं जो इस मुश्किल घड़ी में ग्राहकों की सेवा के लिए काम कर रहे हैं। ग्राहकों और कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं। देखिए (ट्वीट में वीडियो) किस तरह देशभर में हमारे ब्रान्च इस परिस्थिति का सामना कर रहे हैं।’

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com