Main Sliderपटनाबिहारराष्ट्रीय

Corona Update: दिल्ली से बसों में लौट रही भीड़, हालात चिंताजनक: नीतीश कुमार

पटना.नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार से बाहर फंसे लोगों को बस से उनके गृह राज्य भेजना गलत कदम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे बीमारी और फैलेगी। जिसकी रोकथाम और उससे निपटना मुश्किल होगा। बेहतर यही है कि जो जहां है, वहीं रहे। उनके लिए रहने-खाने के लिए राज्य सरकार द्वारा व्यवस्था वहीं की जा रही है। यह फैसला लाक डाउन को पूरी तरह फेल कर देगा। इधर दिल्ली से मिली सूचना के मुताबिक वहां से बसों के जरिये घर लौटने वालों की भारी भीड़ आनंद विहार बस स्टैंड में जुटी हुई है।

मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया कि स्थानीय स्तर पर ही लोगों के रहने और खाने का इंतजाम कैंप लगा कर किया जाये। गौरतलब है कि दिल्ली-एनसीआर से हजारों लोग अपने घरों को जाने के लिए पैदल निकल रहे हैं। इसे देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने 200 बसों का इंतजाम किया है। ये बसें नोयडा और गाजियाबाद से हर दो घंटे में रवाना होंगी।

इन बसों में ज्यादातर बिहार और पूर्वांचल के यात्री हो सकते हैं। कई दिनों से परेशानी झेल रहे इन यात्रियों के लिए राहत वाली बात हो सकती है, लेकिन सच्चाई यह भी है कि इन यात्रियों में कोई संक्रमित हो तो बड़ी मुसीबत खड़ी हो सकती है।

मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण, एआईएस, बर्ज फ्लू व स्वाइन फ्लू को लेकर उच्चस्तरीय समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में कोरोना संक्रमण से उपजे हालात की ताजा स्थिति की जानकारी ली और इस संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने बर्ड फ्लू एवं स्वाइन फ्लू को लेकर भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जहां भी पक्षियों की अस्वाभाविक मौत हो रही है, उस पर नजर रखें।

फ्लू के प्रभाव को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाये जाएं। मुख्यमंत्री ने उच्चस्तरीय समीक्षा के क्रम में एआईएस के संबंध में भी निर्देश देते हुए कहा कि एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (एआईएस) के संदर्भ में अभी से ही पूरी तैयारी रखी जाये। लोगों को एआईएस के संबंध में अभियान चला कर अभी से ही जागरूक करने के जरूरत है। एआईएस से प्रभावित होने वाले संभावित क्षेत्रों में सभी प्रकार के सुरक्षात्मक उपाय सुनिश्चित करें एवं वहां संपूर्ण स्वच्छता का ध्यान रखें।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com