उत्तर प्रदेश

सड़कों पर लौटी बस तो छत पर चढ़ गए लोग

लखनऊ। कोरोना वायरस से बचाव के चलते पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति है। दिल्ली में रोजगार की तलाश में यूपी और बिहार से गए लाखों मजदूर अब काम बंद होने के चलते घरों की ओर पलायन करने को मजबूर हैं। लखनऊ के कैसरबाग बस स्टेशन पर शनिवार रात को हजारों दिहाड़ी मजदूरों की भीड़ पहुंची, जो अपने गंतव्य तक जाने के लिए साधन की तलाश में बस अड्डे पर उम्मीद लगाए बैठे थे ।

बस स्टैण्ड पर पहुंचे मजदूर

दिल्ली से सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलकर हजारों दिहाड़ी मजदूर शनिवार रात राजधानी लखनऊ पहुंचे गए । वहीं लखनऊ से अपने जनपद की ओर जाने के लिए हजारों मजदूर कैसरबाग बस स्टेशन पर सरकारी बसों का इंतजार करते नजर आये । रविवार सुबह तक मजदूरों की संख्या और अधिक बढ़ गई। वहीं भूख और प्यास से भी लोग परेशान नजर आये। इस दौरान कैसरबाग में फंसे मजदूरों में महिलाएं और छोटे बच्चे भी शामिल थे। मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम और जिलाधिकारी लखनऊ अभिषेक प्रकाश ने कैसरबाग बस स्टेशन का जायजा लेते हुए सभी मजदूरों को लगातार बस उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

गौरतलब है कि यूपी के मजदूरों की मदद के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कई बसों का इंतजाम किया है, जो अलग-अलग जनपद से चलकर अपने गंतव्य तक पहुंच रही हैं। मजदूरों की संख्या ज्यादा होने के कारण बहुत से मजदूर बस सेवा का लाभ नहीं ले पा रहे हैं और पैदल ही सफर तय करने को मजबूर हो रहे हैं। वही जो कुछ बसें चल रही लोग अपनी जान जोखिम में डालकर सफर कर रहें हैं। बसों और परिवहन साधनों की कमी के चलते लोगों हजारों किलोमीटर का रास्ता पैदल ही तय कर डाल रहें है वही अन्य जिलों से लोग बाइक पर सवार होकर लखनऊ होते हुए अन्य जिलों को जा रहे हैं।

loading...
Loading...

Related Articles

Check Also

Close
PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com