हरदोई

किसानों ने पावर हाउस कर्मियों की कार्यशैली पर उठाए उदासीनता बरतने के सवाल

विद्युत उपकेन्द्र पिहानी के सप्लाई तार काफी नीचे होने से दो दिनों से गेहूं की फसल में लग रही आग

शाहाबाद में बिजली के तारों से घटित घटनाक्रम की पुनरावृत्ति में पिहानी पावर हाउस

पिहानी/हरदोई।पावर हाऊस कर्मियों की लापरवाही से दो दिनों से गेहूं की फसल में लग रही आग से किसान आक्रोशित।ज्ञात हो कि कस्बे के मुरीदखानी वार्ड में स्थित विद्युत उपकेन्द्र पिहानी के पश्चिम नरिया मोहल्ला है जहाँ किसान व मजदूर तबके के लोगों की गेहूं की फसल पकी खड़ी है।बीते दो दिनों से शार्ट सर्किट की चिंगारी से फसल जलने लगती है जिसे देखकर किसान एकत्रित होकर हो हल्ला करते हैं और जैसे तैसे आग बुझा तो लेते हैं।मगर आक्रोशित कृषकों ने बताया कि हमारी फसल के ऊपर विद्युत उपकेन्द्र से निकली लाइन के तार काफी जीर्ण-शीर्ण व नीचे लटके हुए हैं।गर्मी के मौसम में जब दिनों दिन तापमान बढ़ रहा है तो ये तार गरम होकर पिघल कर फसलों पर गिरते हैं जिनसे निकली चिंगारी पकी फसल पर गिरते ही शोला बनकर फसल को जलाने लगती है।ऐसी परिस्थिति में किसानों ने पावर हाउस कर्मचारियों की उदासीन कार्यशैली का कथित आरोप लगाते हुए बताया कि खेतों के निकट स्थित पावर हाउस है जहाँ ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी प्रतिदिन हो हल्ला सुनकर भी सुधि नहीं लेते हैं और न ही लाइन काटते हैं।पिहानी पावर हाउस के कर्मचारियों की उदासीन कार्यशैली के कारण आम-जन मानस व किसानों का जीवन संकट में पड़ा है तथा फसलों में आग लगने से भारी नुकसानात का जोखिम बना हुआ है।शायद पिहानी विद्युत उपकेन्द्र के कर्मचारी भी शाहाबाद विद्युत उपकेन्द्र जैसी घटना का इन्तजार कर रहे हैं जहाँ 13 बेजुबान पशुओं (बकरियों ) की जान बिजली विभाग की उदासीनता और इन्हीं लटके झटके की लाइन के खातिर गई है।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com