Uncategorizedहमीरपुर

50 हजार के लिए मां-बाप ने बेटी को बेचा, दुष्कर्म

 

हमीरपुर। धरती पर ईश्वर का दर्जा वाले माता-पिता ने रिश्ते को कलंकित करते हुए अपनी नाबालिग बेटी को 50 रुपयों के लिए को बेच दिया। खरीददारों ने नाबालिग को अपनी ज्यादतियों का शिकार बनाया और राजधानी लखनऊ के पीजीआई अस्पताल के पास छोड़ दिया। किसी तरह अपने घर पहुंची किशोरी को वहां भी सकून नहीं मिला और माता-पिता और दादा ने उसकी पिटाई कर दी। किसी तरह बच कर मुख्यालय पहुंची किशोरी ने गुरूवार को अपनी व्यथ जिलाधिकारी को बयां की।

राठ थाना क्षेत्र के बांधुर बुजुर्ग गांव की एक किशोरी ने अपने माता-पिता पर आरोप लगाया कि 20 सितंबर की रात उसके माता-पिता व दादा ने गांव के ही दो लोगों को उसे बेच दिया। खरीदने वालों ने उससे मारपीट कर दुष्कर्म किया। दूसरे दिन एंबुलेंस से लखनऊ के पीजीआई अस्पताल ले गए और वहीं पर छोड़ दिया। किशोरी ने बताया कि वहां उसे एक अधिवक्ता मिला। उसकी आपबीती सुनने के बाद अधिवक्ता अपने घर ले गया। वहां चार दिन रुकने के बाद अधिवक्ता ने उसे राठ डिपो की बस में बैठा कर किराया दिया। वह 26 सितंबर को घर पहुंची तो माता-पिता ने फिर उसे मारा पीटा। इसके बाद उसकी हत्या करने की साजिश रची।

वह थाने जाने लगी तो रास्ते से उठा कर घर ले गए। किशोरी का कहना है कि वह रात को भागकर मुख्यालय पहुंची। गुरुवार को उसने डीएम राजेंद्र प्रताप पांडेय को पूरी जानकारी दी। डीएम ने किशोरी को महिला पुलिस के सिपुर्द कर कार्रवाई के निर्देश दिए। वहीं बिंवार थानाध्यक्ष एसके शुक्ला ने बताया कि अभी ऐसा कोई मामला नहीं आया है। किशोरी की तहरीर मिलते ही दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

loading...
Loading...

Related Articles