पटनाबिहार

राजधानी में हाईकोर्ट के आधीन वाले जमीन को भू-माफियाओं ने किया कब्जा ,लाखों गरीबों के करोड़ों रूपये पर फिरा पानी !

ऑफिसियल लिकोडेटर ने वर्ष 2016 में सम्पूर्ण जमीन का ब्यौरा जिला पुलिस -प्रशासन को था सौंपा ,जिसमें प्लॉट नंबर 107 व 108
>> नंन बैंकिंग कंपनी के प्रतिनिधि जिला पुलिस -प्रशासन और ऑफिसियल लिकोडेटर को किया शिकायत ,नहीं रहा कोई सुन
>> थानाध्यक्ष ने सीओ को निर्माण कार्य का दिया सूचना ,सीओ ने नहीं उठाया फोन, एसडीओ ने कहां मामले की कराएंगे जांच
रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । बिहार ,झारखंड सहित अन्य राज्यों के रिक्सा चालक , ठेला चालक ,सब्जीवाले अन्य लाखों गरीबों के खून – पसीने के कमाई का करोड़ों रूपये नंन बैंकिंग संस्था में जमा हैं । ऑफिसियल लिकोडेटर ( पटना  हाईकोर्ट ) के अधिन जमीन को भू-माफियाओ ने दिनदहाड़े कब्जा कर गरीबों को मिलने वाले करोड़ों रूपये पर पानी फेर दिया हैं । जबकि ऑफिसियल लिकोडेटर ने वर्ष 2016 में पटना जिला पुलिस -प्रशासन को लिखित पत्र लिखकर जमीन का ब्यौरा सौंपा था। जिसमें दानापुर के प्लॉट संख्या 107 व 108 शामिल हैं ।
    पटना जिले के दानापुर थाना संख्या 35 ,मौजा बवक्करपुर स्थित खाता नंबर -110 ,प्लॉट नंबर 107 व 108 रकवा 15 कट्ठा जमीन , 24 मई 1997 को  मेसर्स हेलियस फाइनेंस इनभेस्टमेंट लिमिटेड हेलियस भवन के नाम निबंधित हैं । नंन बैंकिंग संस्था के नाम जमाबंदी और वार्षिक लगान 2018-19 तक जमा हैं ।
    उक्त नंन बैंकिंग संस्था ने जब लाखों लोगों का रूपये नहीं लौटाया तो कई लोगों ने पटना हाईकोर्ट में याचिका दाखिल किया । पटना हाईकोर्ट ने उक्त नंन बैंकिंग संस्था के चल-अंचल सम्पत्ति को जब्त कर लाखों ग्राहकों  के बकाया राशि लौटाने का आदेश दिया और ऑफिसियल लिकोडेटर बहाल किया । ऑफिसियल लिकोडेटर ( हाईकोर्ट ) आरओसी ( रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज)  हैं ।
   बकाया राशि लौटने के लिए जहां ऑफिसियल लिकोडेटर ने पूर्व में विज्ञापन निकाला हैं वही हाईकोर्ट के अधिन, उक्त नंन बैंकिंग के जब्त जमीन का ब्यौरा पटना जिला पुलिस -प्रशासन को सौंपा है एवं बिना अनुमति के उक्त जमीन के खरीद -बिक्री ,जमाबंदी, निर्माण आदी पर रोक संबंधित पत्र लिख सूचित किया हैं ।
   मंगलवार को उक्त नन बैंकिंग संस्था के अधिकृत अधिकारी सोहेल खान ने ऑफिसियल लिकोडेटर ( पटना उच्च न्यायालय ) को आवेदन देकर अवगत कराया है की हेलियस फाइनेंस की खगौल रोड स्थित भू-सम्पत्ति प्लॉट नंबर 107 और 108 को असमाजिक तत्व द्वारा कब्जा किया जा रहा हैं । कब्जा करने का आरोप अजीत कुमार सिंह व बबन ठेकेदार सहित अन्य पर लगाया हैं ।उक्त आरोप से दानापुर थाना , सीओ दानापुर, जिलाधिकारी पटना को अवगत कराया हैं ।
सोहेल खान ने बताया की इस संबंध में पटना जिला पुलिस -प्रशासन को अवगत करा दिया हूं । भू-माफिया और असमाजिक तत्व ऑफिसियल लिकोडेटर (पटना हाईकोर्ट ) के अधिन जमीन को कब्जा करते हैं और करोड़ों का नुकसान होता है तो इसका जिम्मेवार संबंधित पदाधिकारी होंगे ,कंपनी का इसमें कोई लेना-देना नहीं हैं । सूचना के बावजूद किसी पदाधिकारी द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गयी हैं ।
दानापुर थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया की उक्त विवादित जमीन पर निर्माण कार्य होने की सूचना सीओ को दे दि गयी हैं ।सीओ से जैसा निर्देश प्राप्त होगा उस दिशा में कार्रवाई की जाएंगी ।सीओ महेन्द्र प्रसाद गुप्ता से लगातार संपर्क करने के लिए फोन किया गया ,एकबार फोन उठाकर कॉल करने को कहं कर टाल दिया । दानापुर एसडीओ ने कहां की मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएंगी ।
मालूम हो की उक्त प्लॉट नंबर 107 और 108 ऑफिसियल लिकोडेटर ( पटना हाईकोर्ट ) के अधिन जमीन है और नंन बैंकिंग संस्था के द्वारा रूपये नहीं लौटाने के स्थिति  में हाईकोर्ट के आदेश पर जब्त सम्पत्ति को नीलामी कर लाखों ग्राहकों को बकाया रूपये को लौटाना है, ऐसी स्थिति में गरीबों के बकाया रूपये पर भू-माफियाओं ने पानी फेर दिया और पुलिस -प्रशासन मुगदर्शक बनी रही ।
loading...
Loading...

Related Articles