हरदोई

महामारी में भी कर्मचारी गरीब जनता को लूटने से नहीं आ रहे बाज

खाता खुलवाने में अवैध वसूली को लेकर में ग्रामीणों ने की शिकायत

शाखा प्रबंधक ने जांच कर दोषी के खिलाफ कार्यवाही की बात कही

कछौना(हरदोई): कोविड-19 महामारी आपदा में लोग गरीब जनता को लूटने से बाज नहीं आ रहे हैं। कोई उचित प्लेटफार्म के अभाव में आम जनमानस चुपचाप अपना शोषण कराते रहते हैं। कोई हिम्मत कर आवाज उठाता है तो कर्मचारी उसके खिलाफ फर्जी एफआईआर की धमकी देते हैं।
ऐसा एक मामला विकास खंड कछौना की ग्राम सभा बरवा सरसण्ड की बैंक ऑफ इंडिया का प्रकाश में आया। शनिवार को बैंक में अवकाश के बावजूद बैंक के पास बैंक मित्र निशांत गुप्ता ग्रामीणों के खाता खोल रहा था। उसके द्वारा इसकी कोई रसीद ग्रामीणों को नहीं दी जा रही थी। ग्रामीणों से खाता खुलवाने के नाम पर प्रति खाताधारक से ₹200 की अवैध वसूली कर रहा था जबकि खाता में ₹100 ही जमा करने की बात कह रहा था जिसका ग्रामीणों ने विरोध किया तो बैंक मित्र ने ग्रामीणों के सामने अपनी गलती मानते हुए मंगलवार को रुपए वापस करने की बात स्वीकार की। जब ग्रामीण मंगलवार को बैंक शाखा पहुंचे तब बैंक मित्र शाखा के अंदर मैनेजर के पास बैठा था जिस पर मैनेजर के पास जाकर ग्रामीणों ने रुपए मांगे तब शाखा प्रबंधक ने बताया कि आप सभी एक कागज पर हस्ताक्षर करें कि हम सब खाता नहीं खुलवाना चाहते हैं। तब ग्रामीणों ने इस बात का विरोध किया। शाखा प्रबंधक ने शंका के आधार पर एक व्यक्ति का मोबाइल छीन लिया और धमकी दी कि आप लोग बैंक के अंदर वीडियो बनाते हैं। उन लोगों के खिलाफ झूठी शिकायत बनाते हुए थाना बघौली में सूचना दी। जिस पर पूरे मामले की शिकायत ग्रामीण अनुज कुमार सिंह, श्रीराम, जयप्रकाश, कमलेश सिंह, राधेश्याम, विजय कुमार सिंह ने जिलाधिकारी व अग्रणी जिला प्रबंधक से की। इस संदर्भ में बैंक ऑफ इंडिया शाखा के शाखा प्रबंधक ने बताया कि मामले की जांच कर दोषी व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

loading...
Loading...

Related Articles