हरदोई

बिजली विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के कारण हुई एक कर्मचारी की मौत

मौके पर कोई भी नहीं आया बिजली विभाग का जिम्मेदार अधिकारी

बेहटा गोकुल हरदोई। । थाना बेहटा गोकुल क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम बेहटा धीरा के रंजीत पुत्र आशाराम उम्र 35 जो बेहटा गोकुल पॉवर मैं संविदा पर लाइन मैन के तौर पर कार्य कर रहा था । रंजीत के परिवार मैं पिता आशाराम और माता सकुन्तला तथा एक पत्नी सुषमा और चार बच्चे हैं तीन लड़के और एक लड़की है बड़ा लड़का 12 वर्ष है 3 वर्ष की एक लड़की भी है । रंजीत को लगभग पन्द्रह साल कार्य करते हो गया था ।आपको बताते रंजीत अटवा फीडर के अंतर्गत फूल बेहटा मैं लाइन टूटी हुई लाइन को बनाने के लिये 16 तारीख को जैराम के साथ गया था ।जब रंजीत ने सीड डाउन लिया । तब विजली चली गई । जैसे ही रंजीत लाइन पर कार्य कर ही रहा था उसके पश्चात बिजली आ गई जिसके चलते रंजीत जमीन मैं पर गिर गया । और काफी घायल हो गया।लेकिन बिजली विभाग वालो ने घर पर सूचना दी कि रंजीत का एक्सीडेंट हो गया है। लेकिन यह नहीं बताया की बिजली के करंट से रंजीत घायल हो गया है। जब मौके पर परिवार वाले पहुंचे तब पता चला कि रंजीत बिजली के करंट से घायल हुआ है परिवार रंजीत को लेकर जिला अस्पताल ले गये । जब जिला अस्पताल मैं रंजीत को भर्ती कराया गया तो रंजीत की हालत काफी गंभीर थी । इसके जिला अस्पताल से लखनऊ मेडिकल कॉलेज के लिये रिफर कर दिया । जहाँ पर रंजीत दो दिनों तक एडमिट रहा । उसके पश्चात परिवार जन वाले रंजीत को घर ले आए। जब रंजीत की हालत ज्यादा बिगड़ती नजर आई तो घरवाले संडीला के एक हॉस्पिटल को लिए जा रहे थे। तभी रंजीत ने एंबुलेंस में ही जिंदगी और मौत की जंग से एंबुलेंस में ही आखरी दम तोड़ दी। जब परिवार वाले रंजीत को घर लेकर आए तब बेहटा गोकुल पावर हाउस के सामने शाहजहांपुर रोड फोर लाइन पर जाम लगाई । और गांव वाले भी मौके पर पहुंच गए। जैसे ही थाना निरीक्षक राकेश चन्द्र आनंद पता चला की रोड जाम है वैसे ही मौके पर पहुंचे जाम को खुलवाया । और परिवार वालों को समझाया । श्री आनंद ने बिजली विभाग के एस डी ओ से बात की और पूरी की घटना के बारे में बताया । मौके पर एसडीओ न आकर प्रभारी निरीक्षक को बताया कि पांच लाख पचास हजार रुपये की चेक कल तक दे दूँगा । इसी के चलते हैं थाना निरीक्षक श्री राकेश चंद्र आनंद ने रंजीत के अंतिम संस्कार के लिए दो हजार रुपये की सहायता भी की । पुलिस ने पंचनामा करके पोस्टमाटर्म जिला चिकित्सालय के लिए भेज दिया है

loading...
Loading...

Related Articles