हरदोई

जिला अधिकारी पुलकित खरे ने बिलग्राम व हरदोई के क्वाइंटाइन सेंटर का किया निरीक्षण

बसों से श्रमिकों को गांव भेजा जाये और किसी प्रवासी श्रमिक को पैदल न जाने दें-पुलकित खरे

सामुदायिक रसोई में गरीब, असहाय, दिव्यांग एवं मजबूर लोगों को ही पका-पकाया खाना दें-डीएम

हरदोई, जनपद में भारी संख्या आ रहे प्रवासी श्रमिकों के दृष्टिगत जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बिलग्राम चुंगी पर नव निर्मित राजकीय कृषि महाविद्यालय को क्वाइंटाइन सेंटर बनाने के सम्बन्ध में की जा रही तैयारियों का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद, हरदोई श्री शुक्ला को निर्देश दिये कि महाविद्यालय परिसर की झाड़ियों को साफ कराने के साथ कमरों एवं शौचालयों में विशेष सफाई करायें तथा क्वाइंटाइन सेंटर के लिए 24 घंटे के लिए बारी-बारी से सफाई कर्मचारियों की डियुटी लगायें।
जिलाधिकारी ने नगर मजिस्टेªट जंग बहादुर यादव, उप जिलाधिकारी सदर राकेश कुमार गुप्ता एवं तहसीलदार सदर को निर्देश दिये कि प्रवासी श्रमिकों के ठहरने के लिए गद्दे, पेयजल, खाने आदि की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें और क्वाइंटाइन सेंटर पर कानूनगो, लेखपाल, चिकित्सक आदि कर्मचारियों की पर्याप्त संख्या में पालीवार डियुटी लगायें तथा क्वाइंटाइन सेंटर की सभी व्यवस्थायें समय से पूर्ण कर लें।इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने रामबेटी देव नारायाण बाजपेई महाविद्यालय बिलग्राम में संचालित क्वाइंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया और वहां ठहरे प्रवासी श्रमिकों के खाने, पेयजल, सोशल डिस्टेसिंग आदि के बारे में उप जिलाधिकारी बिलग्राम कपिल देव से जानकारी प्राप्त की। उन्होने निर्देश दिये कि प्रवासी श्रमिकों के आने पर सबसे पहले उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जाये और जांच उपरान्त कमरों में नम्बर के हिसाब से श्रमिकों को रखा जाये और कोई श्रमिक पानी के लिए बार-बार बाहर न निकलें इसके लिए प्रत्येक कमरें में घड़े रखवायें ताकि वह कमरें में पानी पी सकें। उन्होने कहा कि जांच में ठीक पाये जाने के बाद श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध कराते हुए उनके परिवारीजनों के वाहन या ग्राम प्रधान द्वारा उपलब्ध करायें वाहन से उनके गांव भेजें और यह व्यवस्था न होने पर तहसील को उपलब्ध कराई गयी बसों के माध्यम से श्रमिकों को गांव भेजा जाये और किसी प्रवासी श्रमिक को पैदल न जाने दें। श्री खरे ने निर्देश दिये कि जो प्रवासी श्रमिक दिल्ली, महाराष्ट एवं गुजरात से आ रहे है और उनमें किसी प्रकार के लक्षण नही है फिर भी उन्हें अलग कमरों में रखा जाये तथा सैम्पल लेकर जांच हेतु भेजा जायेगा और जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही उन्हें क्वाइंटाइन सेंटर से छोड़ा जायेगा। उन्होने उप जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि इन लोगों के शौचालय भी अलग रखें और शौचालयों की सफाई हर घंटे पर करायें तथा परिसर एवं क्वाइंटाइन सेंटर की भी सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दें।
इसके बाद जिलाधिकारी ने माॅं पे्रमा मैरिज लाॅन में नगर पालिका परिषद, बिलग्राम की ओर से संचालित सामुदायिक रसोई का निरीक्षण किया तथा बाहर बैनर न लगा होने पर उप जिलाधिकारी को निर्देश दिये बाहर संचालित सामुदायिक रसोई का बैनर लगवायें ताकि उच्च अधिकारियों के निरीक्षण में मालूम हो कि यहां सामुदायिक रसोई संचालित हैं। सामुदायिक रसोई के निरीक्षण में जिलाधिकारी ने खाने की गुणवत्ता, साफ-सफाई एवं शौचालय आदि को देखा तथा एसडीएम से कहा कि सामुदायिक रसोई में गरीब, असहाय, दिव्यांग एवं मजबूर लोगों को ही पका-पकाया अच्छा खाना दें और खाना खिलाने से पहले खाने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग कराकर हाथ साबुन से धुलाने के बाद खाना खिलायें।

loading...
Loading...

Related Articles