पटनाबिहारराष्ट्रीय

खनन विभाग के मिलीभगत से 16 करोड़ 69 लाख का घोटाला ! ब्रॉडसन ने हाईकोर्ट से भी किया फर्जीवाड़ा

वर्ष 2019 में ई.सी एरिया में निर्धारित बालू खनन से अत्यधिक किया था खनन और स्टॉक

>> पटना जिला खनन पदाधिकारी ने ब्रॉडसन पर किया था 16 करोड़ 69 लाख 80 हजार 723 रूपये का फाइन
>> ब्रॉडसन ने अपने दाखिल याचिका में अत्यधिक खनन और स्टॉक की बात किया है स्वीकार , शपथ -पत्र में दिया है नहीं किये हैं बालू का प्रेषण ( बिक्री )
>> हाईकोर्ट ने फाइन की कार्रवाई पर सिर्फ लगाया है तत्काल स्टे ,इधर अत्यधिक बालू खनन और स्टॉक किया गया बालू गायब
>> प्रधान सचिव ने कहां – मामले की होगी जांच और दोषियों पर कार्रवाई , जिला खनन पदाधिकारी ने कहां – ब्रॉडसन ने नही दिया है कोई सूचना और बालू का कर दिया है प्रेषण ( बिक्री )
रवीश कुमार मणि
पटना ( तरूणमित्र ) ।  यह कहना गलत नहीं होगा की बिहार घोटालों का जननी हैं ,एक से बढ़कर एक घोटाला से शर्मसार होना पड़ा है लेकिन घोटाला का दौर यू ही चलता रहा हैं । इस बार बिहार सरकार के खनन विभाग के मिलीभगत से 16 करोड़ 69 लाख 80 हजार 723 रूपये का बालू घोटाला उजागर हुआ हैं । यहीं नही ब्रॉडसन कंपनी ने हाईकोर्ट से भी फर्जीवाड़ा किया हैं ।
यह पुरा मामला ई. सी एरिया में निर्धारित बालू खनन से अत्यधिक बालू खनन और स्टॉक से जुड़ा हैं । पटना जिला खनन पदाधिकारी ने ब्रॉडसन के ऊपर  16 करोड़ 69 लाख 80 हजार 723 रूपये का फाइन किया था। इसके विरूद्ध ब्रॉडसन कंपनी ने पटना हाईकोर्ट में सीडब्लूजेसी – 17791 /2019 फाइल किया था और अपने शपथ -पत्र में स्वीकार किया है की ई.सी एरिया में निर्धारित बालू खनन से अत्यधिक बालू खनन हुईं है और बालू स्टॉक में हैं । परंतु बालू का प्रेषण  ( बिक्री ) नहीं किया गया हैं ,इसलिए फाइन नहीं किया जाएं । पटना हाईकोर्ट ने सिर्फ फाइन की कार्रवाई पर तत्काल रोक लगाया । चुकी ब्रॉडसन ने अपने दाखिल याचिका एवं शपथ -पत्र में ही दिया हैं की अत्यधिक बालू खनन किया गया बालू स्टॉक में सुरक्षित हैं ,इसका प्रेषण ( बिक्री ,डिस्पैच ) नहीं किया गया हैं ।
वास्तविकता यह है की अत्यधिक बालू खनन और स्टॉक किये गये सारे के सारे बालू गायब हैं । जिला खनन पदाधिकारी सुरेन्द्र कुमार सिंहा ने भी स्वीकार किया है की ब्रॉडसन कंपनी द्वारा वर्ष 2019 में जो अत्यधिक बालू खनन कर स्टॉक किया गया है वह जांच में गायब पाया गया हैं  । ब्रॉडसन कंपनी पर अत्यधिक बालू खनन और स्टॉक करने के विरूद्ध 16 करोड़ 69 लाख 80 हजार 723 रूपये का फाइन किया गया हैं । खनन विभाग के प्रधान सचिव हजजौत कौर ने कहीं की हमें मामले की जानकारी नहीं हैं ,अब संज्ञान में आया हैं ,साक्ष्य के आधार पर कार्रवाई की जाएंगी ।
सूचना अधिकार में अत्यधिक बालू खनन और स्टॉक की जानकारी
एक दैनिक अखबार के पत्रकार ने सूचना अधिकार के तहत जानकारी मांगा था की पटना जिला स्थित सोन नदी में ई. सी एरिया में कितना बालू खनन करना निर्धारित हैं और निर्धारित के अनुपात कितना खनन किया गया हैं ।
सूचना अधिकार से मांगी गयी सूचना में सहायक निदेशक सह लोक सूचना पदाधिकारी ,जिला खनन कार्यालय पटना ने अपने पत्रांक- 2272 ,दिनांक -29/08/2019 के द्वारा दिये गये जबाब में बताया हैं की पटना जिला स्थित सोन नदी में 25 स्थानों पर बालू खनन करने की पंचांग स्वीकृति प्राप्त हैं । ई.सी. के अनुसार बालू खनन करने की क्षमता निर्धारित थीं । जारी सूचना पत्र के अवलोकन से यह स्पष्ट होता हैं की पटना जिले के  6 स्थानों ( ई,  सी. )  एरिया में बंदोवस्तधारी द्वारा अवैध खनन किया गया हैं ।  जलपुरा ई. सी. में निर्धारित -1,68,81,004.8 घनफीट बालू खनन करना था वहीं बंदोवस्तधारी ब्रॉडसन कंपनी ने निर्धारित से अत्यधिक 1,92,57,557.8 खनन किया ।
इस तरह 23,76,553 घनफीट अवैध बालू का खनन किया गया । इसी तरह जनपारा ई.सी.में 1,68,13,209.6 घनफीट बालू खनन करना निर्धारित है , इसके विरूद्ध बंदोवस्तधारी ने अत्यधिक 1,90,48,500.0 बालू का खनन किया । इस तरह जनपारा ई.सी में 22,35,290.4 घनफीट अवैध बालू खनन किया गया । जनपारा 1 ई. सी. में 16813209.6 घनफीट बालू का खनन करना निर्धारित था, जबकि इसके विरूद्ध 20551345.0 घनफीट बालू खनन किया । इस ई.सी में 3738135.4 घनफीट बालू का अवैध खनन हुआ ।  
लहलादपुर ई. सी. एरिया में पानी के अंदर से बालू के अवैध खनन की समाचार प्रकाशित हुई थी। इस लहलादपुर ई.सी.में 16813209.6 घनफीट बालू खनन करना निर्धारित था, जबकि अत्यधिक 17533950 घनफीट बालू का खनन बंदोवस्तधारी द्वारा किया गया । इस तरह लहलादपुर ई. सी. में  720740.4 घनफीट बालू का अवैध खनन किया गया । बालू घाट निसरपुरा ई.सी. में 13559040 घनफीट बालू खनन करने की स्वीकृति प्रदान थी। निर्धारित मात्रा से अत्यधिक 14129450 घनफीट बालू खनन किया गया । इस तरह 570410 घनफीट अवैध बालू का खनन किया गया । इसी तरह अवैध खनन की स्थिति उदयपुर बालू घाट स्थित ई.सी.की रही । यहां 16813209.6 घनफीट बालू का खनन करना निर्धारित था ,जबकि इसके विरूद्ध बंदोवस्तधारी ने  अत्यधिक 19418750 घनफीट बालू खनन किया ।  यहां 2605541 घनफीट अवैध बालू खनन किया गया ।
loading...
Loading...

Related Articles