बिहार

प्रख्यात नेत्र चिकित्सक के आकस्मिक निधन पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन

Tribute meeting organized on sudden demise of renowned eye doctor

सासाराम। वर्मा परिवार के द्वितीय पुत्र, संत पाॅल स्कूल के संस्थापक ट्रस्टी व प्रख्यात नेत्र चिकित्सक डॉक्टर बानेश्वर प्रसाद वर्मा का आकस्मिक निधन 85 वर्ष की आयु में शुक्रवार की रात जमशेदपुर (झारखंड) में हो जाने से शोक की लहर दौड़ गई। डॉक्टर बानेश्वर प्रसाद वर्मा का जन्म सासाराम में वर्मा परिवार में हुआ था। इनके पिता स्वर्गीय हरिहर प्रसाद वर्मा अंग्रेजों के शासनकाल में सासाराम में ऑनररी मजिस्ट्रेट थे एवं माता स्वर्गीय उमा देवी वर्मा एक जमींदार घराने से ताल्लुक रखती थी। जिनकी ज़मींदारी नोखा प्रखंड के मेयरी बाज़ार गाँव में थी एवं वही पर प्रसिद्ध शिक्षाविद डॉक्टर एस॰पी॰वर्मा ने एजुकेशन हब बनाया है।

जिसमें एन॰सी॰टी॰ई॰ दिल्ली से मान्यता प्राप्त सिद्धेश्वर कॉलेज ऑफ़ टीचर एजुकेशन एवं सी॰बी॰एस॰ई॰ दिल्ली से मान्यता प्राप्त सिद्धेश्वर पब्लिक स्कूल वर्मा एजुकेशनल ट्रस्ट के माध्यम से संचालित है जिसके स्वर्गीय डॉक्टर बानेश्वर प्रसाद वर्मा संस्थापक ट्रस्टी थे।बताते चलें कि डॉक्टर बानेश्वर प्रसाद वर्मा बिहार सरकार से सेवा निवृत्त सरकारी नेत्र चिकित्सक थे। इन्होंने बिहार के विभिन्न कार्यक्षेत्रों में रहकर उत्कृष्ट कार्य किया। कुल छ: भाइयों एवं दो बहनों में डाॅ बानेश्वर प्रसाद वर्मा दूसरे नंबर पर थे। सासाराम शहर के सिविल लाइंस में अवस्थित जयनाथ भवन में इनके दो छोटे भाईयों में से एक रोहतास ज़िला के प्रसिद्ध शिक्षाविद् व समाजसेवी लायन डॉ एस पी वर्मा एवं दूसरे विश्वनाथ प्रसाद वर्मा उर्फ बबुआ जी सपरिवार रहते हैं।

सेवा निवृत्त होने के पश्चात मूलतः डॉक्टर बानेश्वर प्रसाद वर्मा पटना में सेवानिवृत्त जीवन यापन कर रहे थे। कुछ महीनों से बीमारी से जूझते हुए उन्होंने अंतिम साँस शुक्रवार की देर रात 11 बजे लिया।डाॅक्टर बानेश्वर प्रसाद वर्मा के निधन की अचानक ख़बर मिलते ही उनके परिजनों, संत पाॅल स्कूल एवं वर्मा एजुकेशनल ट्रस्ट द्वारा संचालित सभी संस्थानों में शोक की लहर दौड़ पड़ी। शोक संलिप्त वर्मा परिवार ने शनिवार को संत पाॅल स्कूल के ऑडिटोरियम में मृत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन कार्यक्रम का आयोजन कर शांति पाठ पढ़ कर श्रद्धांजलि अर्पित किया गया।

इस श्रद्धांजलि सभा में विद्यालय के शिक्षक- शिक्षिकाओं सहित शहर के कई गणमान्य लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। विद्यालय के चेयरमैन डॉ एस पी वर्मा ने डाॅ बानेश्वर प्रसाद वर्मा को उच्च कोटि का नेत्र चिकित्सक व समाज सेवी बताते हुए उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए मृत आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना किया तथा उनके सभी परिजनों को इस दुःख की घड़ी में धैर्य बनाये रखने की बातें कही।

loading...
Loading...

Related Articles