गोरखपुर

प्रवासी मजदूरों में स्किल एवं अनस्किल मजदूरों की सूची तैयार कर फीडिंग की जाये: मण्डलायुक्त

गोरखपुर । मुख्यमंत्री युवा उद्यमिता विकास अभियान के क्रियान्वयन हेतु शासन द्वारा विस्तृत दिशा निर्देश निर्गत किये गये है और इस अभियान हेतु मण्डल स्तर पर मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में तथा जिला स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति का गठन भी किया गया है। समिति में कुल 24 सदस्य शामिल किये गये है जिसकी प्रथम बैठक मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर की अध्यक्षता में आयुक्त सभागार में सम्पन्न हुई।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए मण्डलायुक्त ने कहा कि मण्डल में आये हुए सभी प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराना है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि अब तक मण्डल में आये प्रवासी मजदूरों में स्किल एवं अनस्किल मजदूरों की सूची तैयार कर फीडिंग की जाये तथा टेªनिंग माड्यूल करते समय इण्डस्ट्रीज का भी प्रतिभाग कराया जाये। बताया गया कि मण्डल में अब तक लगभग 3 लाख मजदूर आ चुके है जिसमें गोरखपुर में लगभग 50 हजार, महराजगंज में 68 हजार, देवरिया 36 हजार तथा कुशीनगर में लगभग 48 हजार प्रवासी मजदूर है। यह भी बताया गया कि गोरखपुर में आये प्रवासी मजदूरों में लगभग 18672 अनस्किल तथा 37000 स्किल, महराजगंज में 60 हजार तथा कुशीनगर में 41 हजार अनस्किल प्रवासी मजदूर है।
मण्डलायुक्त ने कहा कि सभी प्रवासी मजदूरों का स्किल डेटा चेक किये जायें तथा वेरिफिकेशन में टेªनिंग की आवश्यकताओं का भी सर्वे कराया जाये। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत कार्य पूरे किये जाये तथा जो यूनिट/उद्योग किन्ही कारणों से बन्द हो गये है उनकी सूची तैयार की जाये ताकि उन्हें यदि किसी शासकीय सहायता की आवश्यकता हो तो उपलब्ध कराकर पुनः चालू कराने का प्रयास किया जा सके।
मण्डलायुक्त ने बताया कि इस अभियान का लक्ष्य युवा उद्यमियों को प्रोत्साहित करके सभी उद्यमियों की सेवाओं को एक पटल पर उपलब्ध कराना है। यह अभियान कन्वर्जेन्स बेस्ट इम्पलीमेटशन माडल को अपनाते हुए उपलब्ध वित्तीय और भौतिक संसाधनों सर्वोत्तम उपयोग की अवधारणा पर आधारित है। इस अभियान के माध्यम से कुशल युवाओं को आजीविका उपार्जन के लिए प्राप्त अवसरों का बेहतर प्रयोग करवाकर उन्हें रोजगार से स्वावलम्बन तक पहुंचाया जा सकेगा।
बैठक के दौरान मण्डलायुक्त ने यह भी निर्देश दिये कि जिन प्रवासी मजदूरों के पास राशन कार्ड नही है उन्हें प्रमुखता के आधार पर उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाये। उन्होंने महराजगंज एवं देवरिया जनपद में कार्य प्रगति में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने बंैकर्स को भी निर्देश दिये कि विभिन्न शासकीय योजनाओं से संबंधित पत्रावलियों का निस्तारण समयबद्ध रूप से करें, पत्रावली निस्तारण में अनावश्यक विलम्ब न किया जाये।
बैठक में जिलाधिकारी के0विजयेन्द्र पाण्डियन, मुख्य विकास अधिकारी गोरखपुर हर्षिता माथुर सहित कुशीनगर, देवरिया के सीडीओ, सी0ई0ओ0 गीडा संजीव रंजन, संयुक्त विकास आयुक्त उग्रसेन पाण्डेय तथा समिति के अन्य सदस्य गण उपस्थित रहे।
loading...
Loading...

Related Articles