Uncategorizedपटनाबिहार

डकैती व चोरी के बाद सीसीटीवी उखाड़ लेते थे लेकिन लिपि सिंह की नजरों से नहीं पाएं बच , योजना बनाते चार गिरफ़्तार

चोरी का सामान व एक कट्टा और तीन गोलियां भी बरामद
पटना ( अ सं )  बिहार का एक ऐसा गिरोह जो डकैती और चोरी करने के बाद निगरानी के लिए लगे सीसीटीवी को भी उखाड़ ले भागते थे ताकि कोई  साक्ष्य नहीं मिले । ऐसी कई मामले सामने आने के बाद एसपी मुंगेर लिपि सिंह स्वयं निगरानी रखने लगी और परिणाम यह हुआ की पुरे सबूत के साथ गिरोह के सरग़ना सहित चार गिरफ़्तार कर लिया गया ।
मुंगेर  जिला के बरियारपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बरियारपुर बाजार विषहरी स्थान में डकैती की योजना बना रहे चार अपराधियों को गिरफ्तार किया गया. इनके पास से हथियार भी बरामद किया गया है. पुलिस की कार्रवाई को देख तीन अपराधी भाग निकले हैं. गिरफ्तार अपराधियों के पास से एक देसी कट्टा और तीन गोलियां बरामद हुई हैं. मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि बरियारपुर थाना अंतर्गत बरियारपुर बाजार के पीछे विषहरी स्थान स्थित विनोद सांवरिया के बगीचे में कुछ असामाजिक तत्वों का जमावड़ा हुआ है जो किसी वारदात को अंजाम दे सकते हैं. इस सूचना के बाद सदर एसडीपीओ हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में बरियारपुर थाना, जिला आसूचना इकाई को लेकर छापामारी दल का गठन किया गया. पुलिस द्वारा छापामारी की गई विनोद सांवरिया के बगीचे में जुटे अपराधियों को गिरफ्तार करने गई पुलिस को देख अपराधी भागने लगे. पुलिस ने खदेड़कर चार अपराधियों को मौके से गिरफ्तार किया. उनके पास से एक देशी कट्टा तीन गोलियां और मोबाइल फोन बरामद हुआ. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि डकैती की योजना बना रहे सोनू पासवान (अस्पताल टोला बरियारपुर), सीताराम मांझी (गणेशपुर मुसहरी बरियारपुर), रवीश मांझी (गणेशपुर मुसहरी बरियारपुर), शशि मांझी ( गणेशपुर मुसहरी बरियारपुर)
को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार अपराधियों ने बताया कि उनके साथ रहा घोलट सिंह, मिट्ठू यादव और राणा पासवान भाग निकला. गिरफ्तार अपराधियों को थाना लाकर पूछताछ की गई. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ की तथा उनकी निशानदेही पर चोरी के सामान भी बरामद किए गए. गिरफ्तार अपराधियों ने अपने स्वीकारोक्ति बयान में बताया कि इन लोगों के द्वारा बरियारपुर बाजार निवासी वासुदेव साह के घर चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया था. गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर चार लाख साठ हजार रुपया, सोने का दो झुमका, सोने का लॉकेट, सोने की अंगूठी और टॉप बरामद किया गया. इसके अलावा चांदी का पायल, बिछिया, चांदी की चेन, एक बांहबंद, चांदी की एक चाबी रिंग तथा चांदी का सिक्का बरामद किया गया है. इसके अलावा सीसीटीवी का मॉनिटर, एलईडी टीवी, सीसीटीवी कैमरा का उपकरण भी बरामद किया गया. गिरफ्तार अपराधियों ने जब वासुदेव साह के घर चोरी की वारदात को अंजाम दिया था, तब उसके घर लगा सीसीटीवी कैमरा गायब कर दिया था. पुलिस ने नगदी और जेवरात के अलावा सीसीटीवी कैमरे के सभी उपकरणों को बरामद कर लिया है. चोरी के सामानों को गिरफ्तार अपराधियों ने आपस में बांट लिया था तथा जेवरातों को ठिकाने लगाने की तैयारी चल रही थी. सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में बरियारपुर पुलिस ने छापामारी कर लगभग सभी सामानों को बरामद कर किया है रवीश मांझी के घर से दो लाख रुपया और एलईडी टीवी, शशि मांझी के घर से 27,500 रूपया बरामद किया गया. सोनू पासवान के घर से सभी जेवरातों की बरामदगी हुई है. जेवरातों के अलावा दो लाख बारह हजार रुपया भी सोनू पासवान के घर से ही बरामद किए गए हैं. चोरी के सभी जेवरातों को सोनू पासवान के यहां रखा गया था. पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों के खिलाफ बरियारपुर थाना में डकैती की योजना बनाने तथा आर्म्स एक्ट की धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई है. वासुदेव साह के घर चोरी के मामले में इन अभियुक्तों को रिमांड किया जाएगा. पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही चोरी की इस बड़ी वारदात के मामले का खुलासा कर दिया है. वासुदेव साह के घर चोरी की वारदात को अंजाम दिए जाने के चौबीस घंटे के अंदर ही कार्रवाई करते हुए चोरी के सभी सामानों को बरामद कर लिया गया है. गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. बरियारपुर थाना को गिरफ्तार अभियुक्तों के खिलाफ आरोप पत्र समर्पित करने तथा तीन फरार अपराधियों की गिरफ्तारी करने का निर्देश दिया गया है.
loading...
Loading...

Related Articles